नई दिल्ली. हाल ही में बीजेपी नेता सुब्रह्मण्यम स्वामी प्रसिद्ध जवाहरलाल नेहरू यूनीवर्सिटी के नए वीसी बनाने को लेकर उठे विवाद के बाद अब खुद सुब्रह्मण्यम स्वामी का आपत्तिजनक बयान आया है. स्वामी ने कहा जेएनयू में ड्रग्स ली जाती है और देशद्रोही गतीविधियां भी चलती हैं. स्वामी ने जेएनयू छात्रों और प्रोफेसरों को नक्सली बताया है.
  

बता दें कि स्वामी ने दिल्ली में जेएनयू का वीसी बनाए जाने के लिए उन्होंने कुछ शर्तें भी रखी हैं. स्वामी के मुताबिक वो जेएनयू में एंटी नारकोटिक्स विंग बनाने, बीएसएफ की तैनाती और नेहरू की बजाय बोस का नाम जोड़ना चाहते हैं.
 

स्वामी के इस बयान के बाद जेएनयू में उनका विरोध शुरू हो गया है. कांग्रेस ने भी बयान को शर्मनाक बताया है. कांग्रेस नेता आरपीएन सिंह ने स्वामी के बयान को दुर्भाग्यपूर्ण बताते हुए कहा है कि स्वामी को VC नहीं बनाया जा रहा होगा इसलिए वो कुंठा में हैं.
  

सुब्रमण्यम स्वामी ने इस बात की भी पुष्टि की है उन्हें जेएनयू के वीसी पद का ऑफर दिया गया है. इससे पहले ऐसी खबरें आईं थी कि सरकार भाजपा नेता सुब्रमण्यम स्वामी को जवाहर लाल नेहरू विश्वविद्यालय के कुलपति पद पर बैठाने का मन बना रही है.