नई दिल्ली. अमेरिका में झंडे पर पीएम नरेंद्र मोदी के दस्तखत को लेकर हो रहे विवाद पर विदेश मंत्रालय के  प्रवक्ता का बयान आया है. भारत सरकार का कहना है कि पीएम ने जिस पर दस्तखत किए वो तिरंगा झंडा था ही नहीं. अमेरिका में तिरंगे पर दस्तखत के विवाद को सरकार ने खारिज किया. सरकार का कहना है कि वह झंडा नहीं था, न तो कपड़े में सफेद रंग है और न ही अशोक चक्र. शेफ विकास खन्ना के लाए तिरंगे पर पीएम ने ऑटोग्राफ दिया था.
 
कल न्यूयार्क में सीईओ के साथ मुलाकात में पीएम के लिए डिनर बनाने वाले सेलीब्रेटी शेफ विकास खन्ना को मोदी की तरफ से दिए गए तिरंगे झंडे पर विवाद हो गया है. शेफ विकास खन्ना ने से बात करते हुए वो तिरंगा झंडा दिखाया था जिस पर दस्तखत करके पीएम मोदी ने उन्हें भेंट में दिया था.
 
पीएम ने तिरंगे पर गलती से दिये ‘ऑटोग्राफ’!  
विकास खन्ना इस झंडे को अमेरिकी राष्ट्रपति ओबामा को देने वाले थे लेकिन अब खबर है कि भारतीय विदेश मंत्रालय के अधिकारियों ने विकास खन्ना से वो झंडा वापस ले लिया है. बताया जा रहा है कि फ्लैग कोड की वजह से ये झंडा वापस लिया गया है. संविधान के मुताबिक राष्ट्रीय झंडे पर कुछ लिखा नहीं जा सकता. विकास खन्ना के मुताबिक पीएम मोदी ने झंडे पर दस्तखत किए हैं.
  
गौरतलब है कि विकास खन्ना ने मोदी का डिनर तैयार किया था. खन्ना ने बताया कि उन्होंने भारत के 26 त्योहारों के मुताबिक 26 खास डिशेज तैयार की थी. विकास के अनुसार डिनर के मेनू से पीएम बेहद खुश हुए थे. उन्होंने विकास खन्ना को गले लगाया और ऑटोग्राफ के साथ झंडा दिया था.