मुंबई. रक्षामंत्री मनोहर पर्रिकर ने मझगांव डॉकयार्ड लिमिटेड में स्वदेशी तकनीक से निर्मित हो रही पहली पनडुब्बी स्कॉर्पियन को लांच किया. स्कॉर्पियन भारतीय नौसेना के पनडुब्बी कार्यक्रम की महत्वाकांक्षी परियोजना 75 का हिस्सा है. यह कार्यक्रम फ्रांस के सहयोग से चल रहा है. इसके तहत अगले कुछ वर्षो में नौसेना के बेड़े में इसी तरह की छह पनडुब्बियां शामिल की जाएंगी.

पनडुब्बी को गोदी से बाहर निकालने के शुभ मौके पर आयोजित पूजा कार्यक्रम में पर्रिकर नौसेना प्रमुख एडमिरल आर.के. धवन, मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस और अन्य अधिकारियों के साथ शामिल हुए.

इस पनडुब्बी के सितंबर 2016 से सेवा में शामिल किए जाने की संभावना है. मौजूदा दौर में भारतीय नौसेना के पास 14 डीजल-बिजली से चलने वाली पनडुब्बियां हैं. इनमें 10 रूसी किलो श्रेणी की और चार जर्मन एचडीडब्ल्यू श्रेणी की पनडुब्बियां शामिल हैं. पर्रिकर प्रोजेक्ट 75 की प्रगति का जायजा लेने के लिए मुंबई में हैं. यह परियोजना पश्चिमी नौसेना कमान के अधीन है.