लखनऊ. यूपी पुलिस के एक दरोगा द्वारा बुजुर्ग टाइपिस्ट से बदसलूकी की तस्वीरें वायरल होने पर अखिलेश सरकार की हुई किरकरी के बाद सरकार ने दारोगा को तत्काल प्रभाव से निलंबित कर दिया है. सीएम अखिलेश यादव के कहने पर डीएम ने उन्हें एक नया टाइपराइटर भी भेंट किया. अखि‍लेश ने पूरे प्रकरण को खुद संज्ञान लेकर इस डीएम से कहा था कि वह बुजुर्ग  से मिलकर उनकी हर संभव सहायता करें और दरोगा पर कड़ी कार्रवाई हो. 
 
 
इसके कुछ देर बाद ही डीएम राजशेखर ने टाइपराइटर खरीदकर बुजुर्ग को भेंट किया. गौरतलब है कि उत्तर प्रदेश में शनिवार को पुलिस का अमानवीय चेहरा सामने दिखाई दिया था. जीपीओ चौराहे के पास सचिवालय चौकी प्रभारी प्रदीप कुमार ने एक बूढ़े व्यक्ति का टाइपराइटर तोड़ दिया था. आरोपी दरोगा ने पत्रकारों से बातचीत में कहा कि मेरा नाम बड़े-बड़े अक्षरों में लिखना, जिससे एसएसपी भी मेरे बारे में जान सकें.