नई दिल्ली. सिख दंगा पीड़ितों की कानूनी लड़ाई लड़ने के लिए मशहूर वरिष्ठ वकील एचएस फुल्का ने आम आदमी पार्टी से इस्तीफा दे दिया है. फुल्का कांग्रेस नेता व दंगों के आरोपी सज्जन कुमार के उस बयान से दुखी थे कि फुल्का आप में हैं इसलिए उनके खिलाफ राजनीति कर रहे हैं.
 
फुल्का ने कहा है कि आम आदमी पार्टी पंजाब में बेहतर प्रदर्शन कर रही है और आने वाले चुनाव में उसे जीत हासिल होगी. उन्होंने कहा कि पार्टी उनके साथ है और अब वो सिर्फ 1984 के सिख दंगों के पीड़ित परिवारों को न्याय दिलाने पर अपना ध्यान केंद्रित करेंगे. फुल्का के मुताबिक सज्जन ने कहा था कि वो आम आदमी पार्टी में हैं इसलिए राजनीति कर रहे है इसलिए उन्होंने राजनीति से संन्यास लेने का मन बना लिया. फुल्का ने 1984 सिख दंगा मामले को लेकर केंद्र सरकार से भी नाराजगी जताई है.