जयपुर. राजस्थान में एंटी करप्शन ब्यूरो ने प्रदेश की अब तक की सबसे बड़ी कार्रवाई करते हुए उदयपुर खान विभाग के अतिरिक्त निदेशक पंकज गहलोत को 2.5 करोड़ रुपये नकद की रिश्वत लेते हुए पकड़ा है. गहलोत के अलावा भीलवाड़ा से सीनियर माइंस इंजीनियर पीआर अमेठा समेत पांच लोगों को गिरफ्तार किया गया है. इनमें दो कनसल्टेंट भी शामिल हैं. गहलोत के 14 बैंक खातों को भी  खंगाला गया और कुल 3.85 करोड़ रुपये बरामद किए जा चुके हैं. जांच अभी भी जारी है.
 
एसीबी ने क्या कहा
भ्रष्टाचार निरोधक ब्यूरो के एडिशनल डीजी नवदीप सिंह ने बताया “हमने पांच लोगों को गिरफ्तार किया है, इनमें से दो सरकारी कर्मचारी हैं और बाकी बिचौलिया का काम कर रहे थे. इस मामले में कार्यवाही अब भी जारी है और आगे हम और खुलासा कर सकते हैं.” भ्रष्टाचार निरोधक ब्यूरो के महानिदेशक नवदीप सिंह ने बताया कि ब्यूरो ने एक सूचना को विकसित कर उदयपुर में पदस्थ खनन विभाग के अतिरिक्त निदेशक पंकज गहलोत, भीलवाडा में पदस्थ खनन अभियंता पुष्कर राज आमेठा, दलाल श्याम सुंदर, रशीद को गिरफ्तार किया है.
 
नवदीप ने बताया कि सीए श्याम सिंह सिंघवी के घर छापा मार कर 2.55 करोड़ रुपये जब्त किए. उन्होंने बताया कि सिंघवी से पूछताछ के आधार पर भीलवाडा के खनन विभाग में पदस्थ अभियंता पुष्कर राज, आमेठा दलाल, संजय सेठी और रशीद को गिरफ्तार किया है. ब्यूरो ने रिश्वत के लिए कार में रखे 1.60 लाख रुपये और एक आरोपी के जेब से 75 हजार रुपये जब्त किए है. उन्होंने बताया कि तलाशी के दौरान आमेठा के खाते में 43 लाख रूपये जमा होने की जानकारी मिली है। ब्यूरो के अनुसार मामले की जांच जारी है.
 
क्या है मामला
गहलोत ने शेर खान जिनकी चित्तोरगढ में चीनी क्ले की 6 खाने हैं, को पहले बंद करवाया और फिर वापस खोलने की एवज में ढाई करोड़ की रिश्वत मांगी. एसीबी ने पहले भीलवाड़ा से अमेठा को गिरफ्तार किया और फिर उदयपुर से गहलोत को. फिलहाल एडिश्नल चीफ सेक्रेटरी (माइंस) अशोक सिंघवी के घर पर भी एसीबी का छापा पड़ा है, वहां से अभी कोई जानकारी नहीं मिल पाई है.