मुंबई. 11 जुलाई 2006 को मुंबई में हुए सीरियल धमाकों के मामले में सज़ा का ऐलान मंगलवार को होगा. शुक्रवार को विशेष मकोका कोर्ट ने 13 आरोपियों में से 12 को दोषी करार दिया था. बता दें कि 11 जुलाई 2006 को लोकल ट्रेनों में एक के बाद एक कुल सात धमाके हुए थे जिनमें 187 लोगों की मौत हुई थी और 800 से ज़्यादा घायल हुए थे.
 
इस मामले की जांच करते हुए एटीएस ने 13 लोगों को गिरफ्तार कर पूरी साज़िश को बेनकाब करने का दावा किया था. साथ ही यह भी कहा था कि पाकिस्तान की शह पर प्रतिबंधित संगठन सिमी ने इसको अंजाम दिया था. हालांकि शुक्रवार को कोर्ट ने 13 में से एक शख्स अब्दुल वाहिद को बरी कर दिया है.