शिमला. शिमला-कालका रुट पर खासकर विदेशी सैलानियों के चलने वाली Toy Train के पटरी से उतरने के कारण 3 यात्रियों की मौत हो गई है. मरने वालों में 2 विदेशी नागरिक भी शामिल हैं. हादसे में 12 लोगों के भी घायल होने की खबर है.ट्रेन में 30 विदेशी यात्री सहित कुल 39 लोग सवार थे. यह हादसा हरियाणा-हिमाचल की सीमा पर टकसाल के समीप हुआ बताया गया है.घायलों में छह लोगों की हालत गंभीर बताई गई है.
 
 
आईआरसीटीसी स्पेशल ट्रेन जो कालका से शिमला के लिए करीब 12:45 पर चली थी और थोड़ी दूरी तय करने के बाद ही टकसाल के सैक्टर दो के समीप पटरी से उतर गई. हादसे के समय ट्रेन में करीब 30 विदेशी सवार थे और 9 अन्य लोग बताए गए हैं. मरने वालों में दो विदेशी महिला पर्यटक बताई गई हैं, जिनकी पहचान की जा रही है.
 
 
हांलाकि अपुष्ट खबरों के अनुसार अस्पताल ले जाते हुए एक और यात्री की मौत हो गई है. सभी घायलों को नजदीकी अस्पताल में प्राथमिक उपचार के बाद मैक्स अस्पताल चंडीगढ़ के लिए भेज दिया गया है जबकि अन्य यात्रियों को मामूली चोंटे आई है. एडीम परवाणू संदीप ने बताया कि मरने वालों में दो विदेशी महिलाएं है जिनकी पहचान की जा रही है. फिलहाल राहत कार्य जारी है. उन्होंने बताया कि ट्रेन के दो डिब्बे पटरी से उतर गए जिससे यह हादसा हुआ. घटना के बाद उत्तर रेलवे के महाप्रबंधक नई दिल्ली से घटना स्थल के लिए रवाना हो गए हैं. 
 
 
आपको बता दें कि अंग्रेजों के जमाने की यह ट्रेन कालका से शिमला के लिए चलती है. चार डिब्बों वाली यह ट्रेन नैरो गेज लाइन पर चलती है और इसे यूनेस्को द्वारा वर्ल्ड हैरिटेज में शामिल किया गया है. हांलाकि मिली जानकारी के अनुसार यह पहला हादसा है. हिमाचल और हरियाणा के प्रशासनिक अधिकारियों व पुलिस ने मौके पर पहुंचकर राहत एवं बचाव कार्य शुरू कर दिया है. 
 
 
आज समाज ब्यूरो