मुंबई.  मुंबई लोकल ट्रेन ब्लास्ट मामले में 13 में से 12 लोगों को दोषी करार दिया गया है. मुंबई की विशेष मकोका अदालत ने 12 आरोपियों  को दोषी करार दिया  है और 1 को बरी कर दिया है.1 जुलाई, 2006 को मुंबई की लोकल ट्रेनों में हुए सिलसिलेवार धमाकों में 187 लोग मारे गए थे और करीब 700 लोग घायल हुए थे. ये फैसला धमाकों के 9 साल बाद आया है. 
 
एटीएस ने इस मामले में कुल 13 आरोपियों को गिरफ्तार किया गया था. 11 जुलाई 2006 को माटुंगा से मीरा रोड के बीच एक के बाद एक 7 धमाके हुए थे. मामले की जांच मुंबई एटीएस कर रही थी. आरोप है कि सिमी ने धमाकों की साजिश रची थी. एटीएस ने 13 लोगों को गिरफ्तार कर पूरी साजिश बेनकाब करने का दावा किया है. पाकिस्तान की शह पर प्रतिंबंधित संगठन सिमी के लोगों ने धमाकों को अंजाम दिया.