नई दिल्ली. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने देश की अर्थव्यवस्था को तेजी से आगे बढ़ाने के लिए देश के टॉप बिजनेस लीडर्स के साथ बैठक की. इस बैठक में पीएम ने आशा जताई कि चीन की अर्थव्यवस्था में आई कमजोरी भारत के लिए कई अवसर पैदा कर सकती है.
 
प्रधानमंत्री आवास में हुई इस बैठक का मकसद दुनिया के आर्थिक हालात के मद्देनजर भारत की स्थिति पर नजर रखना था. इस बैठक में वित्त मंत्री अरुण जेटली भी मौजूद रहें. 
 
चार प्रमुख एजेंडा
बैठक में सबसे पहले आर्थिक मंदी पर चर्चा हुई. इसके बाद चीन की अर्थव्यवस्था में आई कमजोरी, विश्व में आर्थिक मोर्च पर तेजी और रुपए के गिरते भाव पर चर्चा हुई. इस बैठक में कई बड़े उद्योगपतियों और अर्थशास्त्रियों ने हिस्सा लिया जिसमें रिलायंस इंडस्ट्री के प्रमुख मुकेश अंबानी, टाटा समूह के चेयरमैन सायरस मिस्त्री, भारती एयरटेल के प्रमुख सुनील मित्तल समेत 27 बड़े उद्योगपति शामिल हुए. बैठक में कुछ केंद्रीय मंत्री, आरबीआई गवर्नर और नीति आयोग के उपाध्यक्ष अरविंद पनगढिया भी मौजूद रहें.