मुंबई. मीरा-भायंदर निगम परिषद की ओर से यहां 8 दिन के लिए मीट बैन करने के बाद अब बीएमसी ने मुंबई में 4 दिन के लिए ऐसी ही पाबंदी लगा दी है. बीएमसी अधिकारियों के अनुसार मुंबई में 10, 13, 17 और 18 सितंबर को मीट बैन रहेगा. जैन पर्व पर्युषन के दौरान जैन समाज के लोग व्रत पर रहते हैं इसी को देखते हुए बीएमसी ने ये फैसला किया है. बीएमसी ने जानवरों के वध पर रोक लगा दी है और मुंबई में मीट की बिक्री पर इन चार दिनों के लिए पाबंदी लगा दी है.
 
अब मुंबई में भी 4 दिन के लिए मीट बैन, सियासत गरमाई मीरा-भायंदर निगम परिषद की ओर से यहां 8 दिन के लिए मीट बैन करने के बाद अब बीएमसी ने मुंबई में 4 दिन के लिए ऐसी ही पाबंदी लगा दी है. इसे लेकर सियासी बयानबाजी का दौर शुरू हो गया है. कांग्रेस नेता संजय निरुपम ने कहा कि मैं लोगों की भावनाएं समझता हूं, लेकिन इस तरह का बैन नहीं होना चाहिए. बीजेपी समाज में हर चीज बैन कर रही है. स्लॉटर हाउस दो दिन के लिए बंद है। मेरी अपील है कि बैन पॉलिटिक्स में नहीं पड़नी चाहिए.
 
वहीं कांग्रेस नेता मनीष तिवारी ने कहा कि स्वयंभू तरीके से कोई व्यक्ति कुछ खाना चाहे या न खाना चाहे, लेकिन सरकार को इन चीजों में दखल नहीं देना चाहिए. कोई व्यक्ति क्या खाएगा, क्या बोलेगा, कहां सोएगा? यही तो फासिज्म है. वहीं बीजेपी नेता शायना एनसी ने कहा कि इसे बैन या तानाशाही जैसा कुछ नहीं कहा जाना चाहिए. मीरा-भायंदर में जैन लोगों की अच्छी खासी संख्या है, अगर हम सहनशील समाज की बात करते हैं तो ये किसी भी समाज के लिए लागू हो सकता है. कुछ लोगों ने इसमें राजनीति तलाश ली है.