मुंबई. सनसनीखेज शीना बोरा हत्याकांड की छानबीन में एक सफलता मिलने का दावा करते हुए पुलिस ने कहा है कि फोरेंसिक जांच में यह पुष्टि हो गई है कि रायगढ़ जंगलों से बरामद किए गए कंकाल के अवशेष के डीएनए नमूने इंद्राणी मुखर्जी और मिखाइल बोरा से मेल खाते हैं.
 
इस मर्डर मिस्ट्री से जुड़े नए डेवेलपमेंट ये हैं-
 
1. मुंबई पुलिस चीफ राकेश मारिया ने कहा- मुंबई के बाहरी इलाके में स्थित रायगढ़ के जंगल से बरामद की गईं हड्डियां और खोपड़ी के डीएनए सैंपल इंद्राणी के डीएनए सैंपल्स से मेल खाते हैं.
 
2. राकेश मारिया ने जानकारी दी कि शीना बोरा कोजिस जूलरी में आखिरी बार देखा गया था, वह इंद्राणी के पहले पति संजीव खन्ना के कोलकाता आवास से बरामद हुई.
 
3. इंद्राणी मुखर्जी के पति पीटर मुखर्जी से पिछली रात मारिया ने पूछताछ की थी. बातचीत के केंद्र में मुखर्जी दंपत्ति की बिजनेस डीलिंग रहीं.
 
4. पुलिस चीफ का कहना है कि स्पेन, यूके और भारत में हुईं मुखर्जी दंपत्ति की डीलिंग की जांच की जा रही है.
 
5. 2007 में मुखर्जी दंपत्ति आईएनएक्स मीडिया के सह संस्थापक रहे. गबन के आरोपों के बीच 2009 में वह इस ग्रुप से बाहर निकल गए.
 
6. शीना को आखिरी बार 2012 में जिन्दा देखा गया. पुलिस सूत्रों का कहना है कि वह मां-बेटी के बीच आईएनएक्स से जुड़े किसी तरह के फाइनेंशियल विवाद की संभावना की जांच कर रहे हैं.
 
7. शीना बोरा जब तक जिंदा थीं, सार्वजनिक जीवन में वह इंद्राणी मुखर्जी की बहन के तौर पर जानी जाती रहीं. राहुल मुखर्जी के साथ उनकी रिलेशनशिप थी जोकि पीटर मुखर्जी की पहले की शादी से हुए बेटे हैं.
 
8. पुलिस कहती है कि शीना बोरा को अगवा किया गया और बाद में इंद्राणी, उसके पहले पति संजीव खन्ना और ड्राइवर श्याम राय द्वारा गला दबाकर मार डाला गया. अगली सुबह कथित तौर पर शीना के शव को रायगढ़ के निकट के जंगल में जला दिया गया.
 
9. अरेस्ट के बाद कल (सोमवार ) पहली बार था, जब इंद्राणी को घर लाया गया. यहां पुलिस शीना के मर्डर को ‘रीकंस्ट्रक्ट’ करना चाहती थी. पीटर मुखर्जी वर्ली के अपने घर में मौजूद थे.