मुंबई. हिंदुत्व की पैरोकार शिवसेना अब खुद हिंदू कट्टरपंथियों के खिलाफ उतर आयी है. रविवार को शिवसेना के मुखपत्र सामने में अपने कॉलम में अखबार के कार्यकारी संपादक संजय राउत ने कर्नाटक में कलबुर्गी की हत्या और केएस भगवान को मिल रही धमकियों के खिलाफ लिखा कि जो पाकिस्तान, अफगानिस्तान या बांग्लादेश जैसे देशों में हो रहा है.
 
वहीं हिन्दुत्व के नाम पर अगर इस देश में होगा तो हमें तालिबान के खिलाफ बात करने का अधिकार नहीं है. हिन्दुत्व के नाम पर जो लोग ये खून-खराबा कर रहे हैं वे एक तरह से हिंदुत्व का पतन और बदनामी कर रहे हैं. राउत ने यह भी लिखा कि जेम्स लेन प्रकरण में भंडारकर संस्था पर पत्थरबाजी करके अंदर रखे दस्तावेज जलाना क्या ये बहादुरी है. राउत ने महाराष्ट्र में अंधविश्वास के खिलाफ लड़ रहे सामाजिक कार्यकर्ता नरेन्द्र दाभोलकर और कॉमरडे गोविंद पानसरे की हत्या करने वालों की धार्मिक आस्था पर भी सवाल उठाए.