नयी दिल्ली. राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी  ने आज शिक्षक दिवस से एक दिन पहले सर्वोदय विद्यालय के  बच्चों की क्लासी ली. राष्ट्रपति ने बच्चों को इतिहास पढ़ाया. प्रणब मुखर्जी ने इस मौके पर अपना बचपन याद किया. प्रणब ने कहा कि बचपन में शरारती बच्चा था मां को परेशान करता था.  
 
 
मेरे स्कूल में आपकी तरह शानदार मेज औऱ बैठने की जगह नहीं थी. हमें चटाई मे बैठकर पढ़ना होता था. प्रणब ने कहा कि वह  बरसात के दिनों में मैं तोलिया बांधकर स्कूल जाते थे. शुरू के तीन चार साल तो मैं स्कूल ही नहीं गया.
 
 
 
राष्ट्रपति ने कहा मैं औसत छात्र था. राष्ट्रपति ने कहा,  जब हमने आजादी 1974 में हासिल कर ली तो हम  तीन साल क्यों रूके संविधान बनाने के लिए यह सवाल आपके मन में उठता होगा.