नई दिल्ली. बीजेपी और संघ के नेताओं की तीन दिवसीय समन्वय बैठक के प्रथम दिन बुधवार को पूर्व सैनिकों के वन रैंक वन पेंशन (ओआरओपी) मुद्दे पर खासतौर से चर्चा हुई. सूत्रों ने बताया कि संघ प्रमुख मोहन भागवत ने ओआरओपी पर वित्तमंत्री अरुण जेटली और रक्षामंत्री मनोहर पर्रिकर से अलग-अलग बात की. पर्रिकर ने उन्हें मुद्दे के बारे में बताया, जबकि जेटली ने इसके वित्तीय पहलू पर बात की.
 
सूत्रों ने बताया कि भागवत ने जेटली से उन दिक्कतों के बारे में पूछा जो ओआरओपी को लागू करने में बाधा बन रही हैं. सूत्रों ने कहा कि भागवत ने भाजपा नेताओं से इस मुद्दे को यथासंभव जल्द से जल्द निपटाने को कहा. उन्होंने कहा कि अगर जरूरत पड़े तो इसके वित्तीय मसलों को सुलझाने के लिए आयोग बनाया जाए.
 
बुधवार को शुरू हुई बैठक में भाजपा की तरफ से पार्टी अध्यक्ष अमित शाह, केंद्रीय गृहमंत्री राजनाथ सिंह, विदेशमंत्री सुषमा स्वराज, वित्तमंत्री अरुण जेटली, परिवहन मंत्री नितिन गडकरी, शहरी विकास मंत्री वेंकैया नायडू, रसायन एवं ऊर्वरक मंत्री अनंत कुमार और स्वास्थ्यमंत्री जे.पी.नड्डा ने हिस्सा लिया.
 
भाजपा महासचिव राम माधव ने भी बैठक में हिस्सा लिया. माधव पूर्व में आरएसएस के पदाधिकारी रहे हैं. भाजपा महासचिव (संगठन) रामलाल भी बैठक में मौजूद थे. -IANS