मुंबई. सुप्रीम कोर्ट ने श्री राम सेना के प्रमुख प्रमोद मुतालिक को मॉरल पुलिसिंग के लिए कड़ी फटकार लगाते हुए उनकी गोवा जाने पर रोक संबंधी आदेश के खिलाफ की गई अपील उच्चतम न्यायालय ने ठुकरा दी है.
 
 
 
अदालत ने मुतालिक से पु़छा कि आप मैंगलोर में क्या कर रहे हैं ? क्या आप फिर से यहां पबों में लड़कियों की पिटाई कर रहे हैं? कोर्ट ने टिप्पणी करते हुए कहा कि मुतालिक पर जो प्रतिबंध लगा है वह बिल्कुल सही है. कोर्ट ने आदेश दिया कि मुतालिक को 6 महीने तक गोवा में ना आने दिया जाए.