अहमदाबाद. गुजरात में रिजर्वेशन की मांग कर रहे पटेल या पार्टीदार समुदाय का आंदोलन हिंसक हो गया है. मंगलवार को पटेल समुदाय की रैली के बाद अहमदाबाद सहित पूरे राज्य में जमकर हिंसा हुई. हार्दिक पटेल को हिरासत में लिए जाने की बाद हिंसा भड़की है. बुधवार को गुजरात बंद बुलाया गया है. इस बीच, तनाव से निपटने के लिए अहमदाबाद में सेना बुलाई गई है. 
 
आपको बता दें कि ऐसा 13 साल बाद हो रहा है जब शहर में सेना की हेल्प लेनी पड़ रही है. भीड़ जमा न हो पाए इसलिए अहमदाबाद और कई शहरों में इंटरनेट सर्विस पर रोक लगा दी गई है. सोशल मीडिया के जरिए फैलाए जाने वाली अफवाहों पर भी रोक लगाने की कोशिश है. सीएम ने की शांति की अपील मुख्यमंत्री आनंदीबेन पटेल ने राज्य में शांति की अपील की है. उन्होंने कहा कि गुजरात के लोगों से मेरा निवेदन है कि शांति रखें. सलामती का माहौल बनाएं. सरकारी प्रॉपर्टी हमारी प्रॉपर्टी है. कोई भी लॉ एंड ऑर्डर न तोड़े. 
 
राजनाथ ने की आनंदीबेन से बात
होम मिनिस्टर राजनाथ सिंह ने गुजरात के हालात को लेकर मुख्यमंत्री आनंदीबेन पटेल से बात की है. उन्होंने मदद का भरोसा दिलाया है. जानकारी के मुताबिक, होम मिनिस्ट्री दिल्ली से गुजरात के हालात पर नजर रखे हुए है. जरूरत पड़ने पर दिल्ली से एडिशनल सिक्युरिटी फोर्स भी भेजने की तैयारी है.
 
क्या कहा पुलिस कमिश्नर ने?
अहमदाबाद के पुलिस कमिश्नर शिवानंद झा ने कहा कि भीड़ में जो आए थे वे तैयारी के साथ बैठे थे. जिस तरह पूरे शहर में घटनाओं को अंजाम दिया गया है, उससे पता चलता है कि इसकी तैयारी पहले से ही थी. हम जांच कर रहे हैं. मामला जो दिख रहा है उससे कहीं ज्यादा है. आंदोलन में पुलिस टारगेट बन रही थी. इसलिए सेना की हेल्प ली जा रही है. 
 
कहां-कहां हुई हिंसा
1. अहमदाबाद, सूरत समेत 12 से ज्यादा शहरों में पटेल समुदाय की रैली में आई भीड़ ने हिंसा किया
2. सवा सौ गाड़ियां फूंक डालीं. 16 थाने जलाए, एक की मौत हो गई. कई शहरों में ट्रेन की पटरियां उखाड़ दीं.
3. फायर स्टेशनों को घेर लिया, ताकि दमकल विभाग के लोग निकल न सकें.
4. मेहसाणा में गृह राज्यमंत्री रजनी पटेल के घर में भीड़ ने आग लगा दी. 
5. गांधीनगर समेत कई शहरों में कलेक्टर और एसपी दफ्तर में भी आग लगा दी गई.
6. हिंसा के बाद मंगलवार की रात अहमदाबाद, सूरत, मेहसाणा, ऊंझा, विसनगर में कर्फ्यू लगा दिया गया है। 2002 के दंगों के बाद गुजरात में ऐसी हिंसा हुई और कर्फ्यू लगाया गया.