अहमदाबाद. गुजरात की बीजेपी सरकार को चुनाव में हराने की धमकी देने वाले 22 साल के युवक हार्दिक पटेल की आज सभी लोग चर्चा कर रहे हैं. 2 महीने पहले हार्दिक को कोई नहीं जानता था लेकिन आज वह नेशलन न्यूज चैनल्स की सुर्खियों में दौड़ रह है. हार्दिक को इस समय गुजरात के हजारों लोगों का समर्थन हासिल है.
 
हार्दिक ने गुजरात के पटेल समाज लिए आरक्षण की मांग करके हजारों लोगों के दिलों की धड़कन बना हुआ है. हालांकि माना जाता है कि गुजरात का पटेल समाज आर्थिक और राजनीतिक ग्राउंड  पर काफी मजबूत है लेकिन हार्दिक की आरक्षण की मांग हर रोज आग की तरह फैल रही है.
 
गुजरात सरकार को दिया खुला अल्टीमेटम-
आरक्षण की मांग को लेकर महारैली कर रहे पाटीदार अमुदाय के नेता हार्दिक पटेल ने सीधे मोदी सरकार और राज्य की बीजेपी सर्कार पर हमला बोला है.  हार्दिक ने साफ़ कर दिया है कि अगर आरक्षण नहीं दिया गया तो 2017 में कमल खिलना नामुमकिन है. रैली को संबोधित करते हुए हार्दिक पटेल ने कहा, अगर एक पटेल (सरदार पटेल) देश को जोड़ सकता है, तो हम राज्य में 80 लाख हैं, पूरे देश में 27 करोड़ हैं.
 
हार्दिक ने कहा, पटेल समाज को उसका हक और न्याय मिलना चाहिए. हमारी मांगें सही हैं. मैं किसी पार्टी से नहीं जुड़ा हूं, पटेल समाज को हक मिले, हमारी मांगे सही हैं. हमारी लड़ाई सिस्टम के खिलाफ है. हार्दिक ने कहा, देश में सबसे ज्यादा सांसद हमारे हैं. प्यार से हक दो, नहीं तो छीन लेंगे. अगर हमारे हित की बात नहीं मानी तो 2017 में कमल नहीं खिलेगा. हम भीख नहीं मांग रहे हैं, हम पार्टी नहीं पार्टीदार से प्रेरित हैं. हम जहां निकलते हैं वहीं पर क्रांति शुरू हो जाती है.