नई दिल्ली. दिल्ली के जंतर-मंतर पर वन रैंक वन पेंशन की मांग कर रहे पूर्व सैनिक धरने पर बैठे हुए हैं. आज पूर्व सैनिकों के धरने में शामिल हो गईं केंद्रीय मंत्री जनरल वीके सिंह की मृणालिनी. जनरल वीके सिंह सेना के अध्यक्ष रह चुके हैं. पूर्व सैनिक सरकार के खिलाफ धरने पर बैठे हैं. उनको केंद्रीय मंत्री की बेटी का समर्थन समर्थन मिला है. पूर्व सैनिकों से सरकार ने सिर्फ वादा किया है लेकिन वन रैंक वन पेंशन लागू नहीं कर रही है.
 
धरने में शामिल होने पहुंची मृणालिनी सिंह ने कहा, ‘मैं एक पूर्व सैनिक की बेटी होने के तौर पर इससे जुड़ी हूं. मेरे दादाजी भी फौजी थे,पिताजी भी फौजी हैं मैं भी एक फौजी हूं और मेरे पति भी एक फौजी हैं. एक फौजी होने के नाते मैं यहां आई हूं.’ उन्होंने आगे कहा, ‘मुझे एक चीज पता है मोदी जी जो कहते हैं वो करते हैं, मुझे यकीन है कि वन रैंक वन पेंशन एक दिन सच्चाई बनेगी, कब बनेगी ये मुझे नहीं पता.आज मैं भूख हड़ताल पर बैठे इन सैनिकों को समर्थन देने आई हूं और मुझे उम्मीद है कि जल्द ही वन रैंक वन पेंशन एक वास्तविकता बन जाएगी.’