नई दिल्ली. राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार के बीच बातचीत से ठीक पहले पाकिस्तान ने नया पैंतरा चला है. सीजफायर के लगातार उल्लंघन के बीच पाकिस्तान ने 23 अगस्त को कश्मीर के अलगाववादी नेताओं को मुलाकात करने के लिए बुलाया है. 23 अगस्त को ही भारत और पाकिस्तान के बीच एनएसए स्तर की बातचीत होनी है.
 
सूत्रों के मुताबिक अलगाववादी नेता और हुर्रियत कॉन्फ्रेंस के चेयरमैन मीरवाइज उमर फारुक को मंगलवार शाम को पाकिस्तान हाई कमीशन की तरफ से फोन करके दिल्ली आने का न्यौता दिया गया. सूत्रों के मुताबिक मीरवाइज के अलावा यासिन मलिक, सैयद अली शाह गिलानी को भी पाक हाई कमीशन ने न्योता भेजा है.
 
NSA की बैठक से ठीक पहले अलगाववादी नेताओं को न्योता, क्या है पाक की मंशा? सीजफायर के लगातार उल्लंघन के बीच पाकिस्तान ने 23 अगस्त को कश्मीर के अलगाववादी नेताओं को मुलाकात करने के लिए बुलाया है. ध्यान देने वाली बात है कि पिछले साल अगस्त में भारत ने विदेश सचिव स्तर की बातचीत इसलिए रद्द कर दी थी, क्योंकि इस बातचीत से पहले भी पाकिस्तान ने अलगाववादी नेताओं को मुलाकात के लिए बुला लिया था. इससे पहले ईद के दौरान भी पाकिस्तानी हाई कमिश्नर अब्दुल बासित ने मीरवाइज से मुलाकात की थी.