नई दिल्ली. सुप्रीम कोर्ट ने नीतीश कटारा हत्याकांड में विकास यादव, विशाल यादव और सुखदेव पहलवान को दोषी ठहराने के फैसले पर मुहर लगा दी है. साथ ही दोषियों की सजा बढ़ाने के पहलू पर विचार करने को भी राजी हो गई. फैसला देते हुए शीर्ष कोर्ट ने तल्ख टिप्पणी की. शीर्ष अदालत ने कहा, ‘इस देश में अपराधी ही इंसाफ के लिए चीख-पुकार कर रहे हैं. वे किस तरह के इंसाफ की उम्मीद कर रहे हैं.’ 
 
दिल्ली हाईकोर्ट ने दोषियों को उम्र कैद की सजा को साधारण बताया था। साथ ही बिना किसी माफी के विकास, विशाल की सजा 30 साल और सुखदेव की 25 साल की कैद तक बढ़ा दी थी. कोर्ट ने सजा की अवधि के संबंध में दिल्ली सरकार को नोटिस जारी किया. उससे छह हफ्ते में जवाब मांगा. 
एजेंसी