नई दिल्ली. मेरठ में आर्मी के एक जवान वेदमित्र ने लड़की से छेड़छाड़ का विरोध किया तो गुंडों ने पीट-पीटकर उसकी हत्या कर दी. मौके करीब 150 लोग चुपचाप यह सब होते हुए देखते रहे. बाद में इन्हीं लोगों ने भारतीय राष्ट्रध्वज का अपमान भी किया. सभी लड़कों ने तिरंगे को गाड़ी के बोनट पर बिछाकर शराब पीने के दौरान उसका मेजपोश की तरह इस्तेमाल किया. 
 
लाठी डंडों से पीटा
घटना गुरुवार शाम की है, जब सेना के जवान वेदमित्र दूध लेने गए थे. तभी उन्होंने देखा कि कुछ गुंडे एक लड़की के साथ छेड़छाड़ कर रहे थे. वेदमित्र उसे बचाने के लिए आगे बढ़े और गुंडों से भिड़ गए. थोड़ी देर में ही छेड़छाड़ कर रहे लोगों के कुछ साथी भी वहां पहुंच गए और वेदमित्र को पीटना शुरू कर दिया. गुंडों ने लोहे की रॉड, हॉकी, बेसबॉल के डंडों और लाठियों से पीटा. वेदमित्र को मरा हुआ समझ कर सभी चले गए. बाद में फौजी को अस्पताल ले जाया गया, लेकिन तब तक उनकी मौत हो चुकी थी.
 
दोस्त का जन्मदिन मनाने निकले थे
जिन गुंडों ने सेना के जवान की दिनदहाड़े हत्या की और बाद में तिरंगे का अपमान भी किया दरअसल वे अपने एक दोस्त अमित उपाध्याय का जन्मदिन मनाते हुए सड़कों पर घूम रहे थे. इन्होने दौरौला के पास रुककर शराब पी और सभी लोग हरिद्वार की तरफ चले गए.