नई दिल्ली. रेलवे होटल टेंडर घोटाला मामले में सीबीआई के बाद अब प्रवर्तन निदेशालय यानी ईडी ने राजद प्रमुख लालू यादव की पत्नी व पूर्व मुख्यमंत्री राबड़ी और बेटे और पूर्व उप-मुख्यमंत्री तेजस्वी यादव को पूछताछ के लिए समन भेजा है. प्रवर्तन निदेशालय ने तेजस्वी यादव को महापर्व छठ के नहाय खाय के दिन यानी 24 अक्टूबर को पूछताछ के लिए हाजिर होने को कहा है. वहीं पूर्व सीएम राबड़ी देवी को ठीक छठ के सुबह के अर्घ्य के दिन 27 अक्टूबर को पूछताछ के लिए दिल्ली बुलाया है. राबड़ी देवी लंबे समय तक खुद ही छठ का व्रत रखती रही हैं.
 
ये पहली बार नहीं है कि प्रवर्तन निदेशालय ने राबड़ी देवी और तेजस्वी यादव को नोटिस जारी कर पूछताछ के लिए बुलाया है. प्रवर्तन निदेशालय ने राबड़ी देवी को 11 अक्टूबर और तेजस्वी यादव को 10 अक्टूबर को बुलाया था. इससे पहले वाले नोटिस में भी राबड़ी देवी और तेजस्वी यादव नहीं आए थे. राबड़ी देवी लंबे समय तक छठ पर्व करती रही हैं लेकिन पिछले साल उन्होंने यह कहकर छठ करना बंद कर दिया था कि बेटियों की शादी होने के बाद पूजा के काम में हाथ बंटाने वाला कोई है नहीं इसलिए वो बेटों की शादी के बाद जब घर में बहू आ जाएगी तब छठ करेंगी. इस बार खबर आ रही है कि राजनीतिक और कानूनी समस्याओं से घिरे लालू परिवार को संकट से उबारने के लिए राबड़ी देवी छठ करेंगी. वैसे लालू यादव ने उनकी बीमारी का हवाला देते हुए इसका खंडन किया है.
 
2006 के IRCTC रेलवे टेंडर घोटाले मामले में लालू प्रसाद ,राबड़ी देवी सहित तेजस्वी यादव के खिलाफ सीबीआई ने मामला दर्ज किया था. इसी मामले को आधार बनाते हुए ईडी ने भी मामला दर्ज किया है. हालांकि सीबीआई भी इस मामले में कई बार पूछताछ के लिए लालू और तेजस्वी को नोटिस जारी कर चुकी है. सीबीआई भी लालू यादव, तेजस्वी यादव और राबड़ी देवी से पूछताछ कर रही है. कई दफा समन जारी करने के बाद भी लालू यादव और तेजस्वी यादव सीबीआई के समक्ष पेश नहीं हुए थे. मगर पिछली दफा वो जब सीबीआई के समक्ष पेश हुए तो पूछताछ करने के बाद लालू प्रसाद ने बयान दिया था कि सीबीआई बुलाती है, मेरा भाषण सुनती है और चाय पिलाती है. 
 
ये भी पढ़ें-
वीडियो-

वी़डियो-