नई दिल्ली. इंडियन एयरफोर्स दुश्मनों से लोहा लेने और युद्ध जैसी आपात स्थिति से आसानी से निपटने के लिए पूरी तरह कमर कसती हुई नजर आ रही है. फाइटर प्लेन और एयरक्राफ्ट की सड़क पर लैंडिंग करवाकर भारतीय वायुसेना ने अपनी ताकत का एहसास दुनिया को करा दिया है. मगर एक बार फिर से इंडियन एयरफोर्स इतिहास लिखने की ओर अग्रसर दिख रही है. इंडियन एयरफोर्स लखनऊ-आगरा एक्सप्रेस-वे पर फाइटर प्लेन और फाइटर एयरक्राफ्ट उतारने की तैयारी कर रही है. उम्मीद की जा रही है कि लखनऊ-आगरा एक्सप्रेस वे पर 24 अक्टूबर को एयरफोर्स के फाइटर प्लेन लैंडिंग और टेक ऑफ करेंगे. 
 
24 अक्टूबर को इस एक्प्रेस वे पर करीब 20 फाइटर प्लेन लैंड करेंगे, जिनमें जगुआर, सुखोई, मिराज आदि फाइटर प्लेन शामिल होंगे. बताया जा रहा है कि देश में पहली बार किसी एक्सप्रेस-वे पर इतने बड़े स्तर पर फाइटर प्लेन से अभ्यास किया जाएगा. बता दें कि ये एक्सरसाइज रेगुलर अभ्यास का एक हिस्सा होगा, जो साल 2015 में शुरू हुआ था.  
 
नोएडा से आगरा के बीच बना यमुना एक्सप्रेस-वे के बाद अब लखनऊ से आगरा को जोड़ने वाला लखनऊ-आगरा एक्सप्रेस वे भी उस कड़ी में जुड़ गया है, जहां किसी भी आपास स्थिति से निपटने के लिये वायुसेना फाइटर प्लेन की लैंडिंग कर सकती है. बता दें कि नोएडा से आगरा के बीच बना यमुना एक्सप्रेस-वे देश का पहला एक्सप्रेस-वे है, जहां एयरफोर्स ने फाइटर प्लेन जगुआर को उतारा था. इसके बाद इसी तरह की एयर स्ट्रिप लखनऊ-आगरा एक्सप्रेस-वे पर बनाई गई है. 
 
आपात स्थिति में देश के एक्सप्रेस वे पर फाइटर प्लेन को उतारा जा सके इसके लिए वायुसेना बड़े लेवल पर प्लानिंग कर रही है. यही वजह है कि यमुना एक्सप्रेस वे के बाद लखनऊ-आगरा एक्सप्रेस वे को भी उसी लिहाज से बनाया गया है. बता दें कि एक्स्प्रेस वे पर एयर स्ट्रिप बनाना सुरक्षा के लिहाज से भारत के लिए काफी अहम है. 
 
युद्ध की स्थिति में दुश्मन की ओर से सबसे पहले हवाई हमले एयरबेस और एयरपोर्ट पर ही किये जाते हैं. ताकि फाइटर प्लेन उड़ान भरने की स्थिति में न रहें और दुश्मन हवाई हमले के मामले में कमजोर पड़ जाएं. यही वजह है कि ऐसी स्थिति से निपटने के लिए एक्सप्रेस वे पर एयर स्ट्रिप बनाई जाती हैं. एक्स्प्रेस वे पर बनीं एयर स्ट्रिप ही फाइटर प्लेन के लैंड कराने और टेक ऑफ कराने के काम आती हैं. 
 
बता दें कि अभी तक पाकिस्तान एक्सप्रेसवे पर फाइटर प्लेन उतारने के मामले में हमसे आगे था. उसके पास दो ऐसे एक्सप्रेस वे हैं, जहां वो आपात स्थिति में फाइटर प्लेन को लैंड ऑफ और टेक ऑफ करा सकते हैं. मगर अब भारत इस मामले में पाकिस्तान से आगे हो गया है. क्योंकि भारत के पास ऐसे तीन एक्सप्रेस वे हैं, जहां पर आपात स्थिति में लड़ाकू विमानों की लैंडिंग कराई जा सकती है. हालांकि, लखनऊ और बलिया के बीच बन रहे पुर्वांचल एक्सप्रेस वे पर काम चल रहा है. 
 
 
वीडियो-

वीडियो-