चंडीगढ़ : 6 दिन की पुलिस रिमांड पर चल रही डेरा प्रमुख राम रहीम की मुंहबोली बेटी हनीप्रीत के बारे में हरियाणा पुलिस ने बड़ा खुलासा किया है. पुलिस के अनुसार हनीप्रीत ने राम रहीम को सजा सुनाए जाने के समय 25 अगस्त को पंचकुला में हिंसा भड़काने के लिए 1.25 करोड़ रुपए दिए थे. पंचकूला ‘नाम चर्चा घर’ के इंचार्ज चमकौर सिंह ने यह खुलासा किया है. पुलिस के अनुसार 17 अगस्त को डेरे में मीटिंग के बाद हनीप्रीत ने चमकौर को पैसे भिजवाए थे. उधर, पुलिस ने डेरा सच्चा सौदा की 45 सदस्यीय मैनेजमेंट कमिटी को नोटिस भेजा है. पुलिस ने इन 45 लोगों को जांच में शामिल होने के निर्देश दिए हैं.
 
इस मामले में पुलिस कमिश्नर एएस चावला ने बताया कि हमारे पास तथ्य हैं, जिसमें डेरा के एक अनुयायियों के पास से मिले 24 लाख रुपये शामिल हैं. इससे साफ जाहिर होता है कि पैसे हिंसा फैलाने के लिए ही उपलब्ध कराए हैं. पुलिस का कहना है कि डेरा सौदा का सारा कैश हनीप्रीत ही हैंडल करती थी. हनीप्रीत के आदेश पर ही डेरा प्रबंधन कमेटी कोई चीज खरीदती थी. पंचकूला में 25 अगस्त को हुई आगजनी और उपद्रव के लिए धनराशि भी हनीप्रीत के आदेश पर ही बंटवाई गई थी.
 
 
जांच के दौरान हरियाणा पुलिस को ऐसे कई फोन कॉल्स के बारे में पता चला था जिनमें लोगों को हिंसा के लिए तैयार होने की बात कही जा रही थी. पंचकूला के पुलिस कमिश्नर ए. एस. चावला का कहना था कि अलग-अलग फोन कॉल में लोगों को पंचकूला कोर्ट के बाहर इकट्ठा होने और हिंसा करने के संदेश दिए गए थे. इसी वजह से डेरा समर्थकों ने इतना उपद्रव मचाया था.
 
 
बता दें कि 25 अगस्त को गुरमीत को दोषी पाए जाने के बाद पंचकूला में हुई हिंसा में 30 से अधिक लोगों की जान चली गई थी. इस हिसा में कई लोग घायल हुए थे और 100 से ज्यादा गाड़ियों में आग लगा दिया गया था. डेरा समर्थकों ने मीडियाकर्मियों पर भी हमले किए थे.