मुंबई: मुंबई में बारिश ने एक बार फिर से उसकी रफ्तार में ब्रेक लगा दी है. महाराष्ट्र के कई इलाकों में भारी बारिश से जलप्रलय सा मंजर है. इसकी वजह से हवाई यातायात भी बुरी तरह से प्रभावित हो रही हैं. अब तक खराब मौसम की वजह से 50 से अधिक विमानों को कैंसिल कर दिया गया है. 
 
बताया जा रहा है कि मुंबई एयरपोर्ट पर खराब मौसम की वजह से जेट एयरवेज की 63, इंडिगो की 8, स्पाइसजेट की 3 और गो एयर की 1 विमान को रद्द कर दिया गया है. लगातार हो रही बारिश की वजह से कई जगहों पर जलभराव की समस्या पैदा हो गई है. भारी बारिश की वजह से सड़क से लेकर हवाई यात्रा तक प्रभावित हुई हैं. 
 
प्रशासन ने एहतियातन मंगलवार को स्कूल-कॉलेज बंद रखने का आदेश दिया है. सोमवार को हुई बारिश के बाद जगह जगह सड़कों पर जलभराव देखने को मिला. शाम को ऑफिस से लौटते वक्त सड़कों पर घंटों लोगों को ट्रॉफिक जाम से जूझना पड़ा. 
 
 
इस बीच समुंद्र भी अपने पूरे उफान पर है. प्रशासन ने हाईटाइड की चेतावनी जारी की है. मछुआरों को समुंद्र में जाने से मना किया गया है. समुंद्री इलाकों के आसपास रहने वाले लोगों को भी सावधान रहने और समुंद्र किनारे जाने से मना किया गया है.
 
हालांकि इस बीच मुंबई में साइक्लोन की भी अफवाह उड़ रही है जिसे बीएमसी ने बयान जारी कर पूरी तरह खारिज कर दिया है. बीएमसी ने बयान जारी कर कहा है कि चक्रवाती तूफान जैसी अफवाहों पर विश्वास ना करें. बीएमसी ने ये भी कहा कि बांद्रा वर्ली सी लिंक सुचारू रूप से काम कर रहा है और इसके अलावा सायन और लालबाग फ्लाईओवर से भी आवाजाही जारी है. 
 
 
बीएमसी के मुताबिक उन्हें 168 जगहों पर पेड़ गिरने की खबर मिली है. इसके अलावा 5 जगहों पर दीवार गिरी है और 21 जगहों पर शॉर्ट सर्किट हुआ है. बीएमसी ने ये भी कहा कि इन घटनाओं में किसी की हताहत होने की कोई खबर नहीं मिली है. 
 
गौरतलब है कि इससे पहले 29 अगस्त को मुंबई में करीब 24 घंटे तक लगातार बारिश हुई थी जिसमें करीब 331 मिलिमीटर बारिश हुई थी. उस दौरान भी भारत की आर्थिक राजधानी लगभग ठहर गई थी.