मुजफ्फरनगर: उत्तर प्रदेश के मुजफ्फरनगर में एक इनामी बदमाश जान मोहम्मद ढेर हो चुका है. रविवार सुबह हुई इस फायरिंग में दो पुलिस वाले भी घायल हो चुके हैं, जिन्हें अस्तपताल में भर्ती कराया जा चुका है. जान मोहम्मद के उपर 12 हजार का इनाम था और पुलिस ने उसके पास से एक पिस्टल भी बरामद की है. 
 
पुलिस और जान मोहम्मद के बीच यह मुठमेड़ यूपी के खतौली कोतवाली इलाके के बाईपास के पास हुई. वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक अनन्त देव तिवारी ने बताया कि रविवार सुबह पुलिस को जानकारी मिली था कि दिल्ली हरिद्वार NH 58 हाईवे के बाईपास पर एक सफ़ेद रंग की स्विफ्ट कार में 2 बदमाश जा रहे हैं. ये लोग बड़ी घटना को अंजाम देने की फिराक में जा रहे हैं.
 
सूचना मिलते ही खतौली पुलिस ने चेकपोस्ट पर गाड़ी रोकने का प्रयास किया तो बदमाशों ने फायरिंग शुरू कर दी. इसके जवाब में पुलिस ने भी बदमाशों पर कई राउंड फायर किए. काफी देर तक पुलिस और बदमाश के बीच ये मुठभेड़ जारी रही. इसमें 12 हजार का ईनामी जान मोहम्मद मारा गया, जबकि उसका एक साथी जंगलों की तरफ भाग गया. 
 
अनन्त देव तिवारी ने बताया कि भागे हुए बदमाश की तलाश में पुलिस ने कई घंटो तक जंगल में कॉम्बिंग भी की. जान मोहम्मद पर विभिन्न थानों में लूट, हत्या और डकैती के लगभग 24 मुक़दमे दर्ज हैं. तिवारी ने बताया कि अब तक हुई मुठभेड़ में 15-16 बदमाश घायल हुए हैं और 3 बदमाश मारे गए हैं.
 
बता दें कि योगी सरकार आने के बाद यूपी पुलिस ने अब तक 15 कुख्यात बदमाशों को ढेर किया है. पुलिस और बदमाशों के बीच अब तक 421 मुठभेड़ हो चुकी है. जिसमें 90 पुलिस कर्मी भी घायल हुए. आंकड़ों के अनुसार मेरठ में सबसे ज्यादा 193 एनकाउंटर हुए हैं और राजधानी लखनऊ में सबसे कम 7 मुठभेड़ हुए.
 
 
20 मार्च से 17 सितंबर के बीच प्रदेश में पुलिस व बदमाशों के बीच 421 मुठभेड़ में अब तक 16 बदमाश ढेर हुए, जबकि 1106 को गिरफ्तार कर जेल पहुंचाया गया है. मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने साफ कहा था कि निर्दोषों को छेड़ेंगे नहीं और वहीं दोषियों को छोड़ेंगे नहीं. सीएम के इसी निर्देश पर कार्रवा करते हुए पुलिस कुख्यात बदमाशों पर कहर बनकर टूटी है.