अहमदाबाद: अपने जन्मदिन पर पीएम मोदी ने 4 राज्यों को रिटर्न गिफ्ट दिया है. थोड़ी देर पहले गुजरात के केवड़िया में पीएम मोदी ने नर्मदा नदी पर सरदार सरोवर डैम का उद्घाटन किया. 56 साल के इंतज़ार के बाद देश को सबसे बड़े बांध का तोहफा मिला है. उद्घाटन से पहले पीएम मोदी ने भगवान विश्वकर्मा और नमर्दा नदी की पूजा की.
 
सरदार सरोवर डैम से 4 राज्यों को सीधा फायदा मिलेगा. डैम के पानी से जहां गुजरात के 3137 गांवों को सिंचाई के लिए पानी मिलेगा वहीं एमपी को सबसे अधिक 57% बिजली मिलेगी, जबकि महाराष्ट्र को 27%  और गुजरात को 16% बिजली मिलेगी. गुजरात के नर्मदा नदी पर बना 138.72 मीटर देश का सबसे ऊंचा बांध है. 
 
 
बता दें कि 1945 में सरदार पटेल ने नर्मदा पर डैम बनाने की पहल की थी. मुंबई के इंजीनियर जमदेशजी एम वाच्छा ने डैम का प्लान बनाया था. सरदार सरोवर डैम के काम की शुरुआत होने में ही 15 साल लग गए हैं. 15 अप्रैल 1961 को जवाहर लाल नेहरू ने डैम का शिलान्यास किया था. 56 साल में बांध बनकर तैयार हुए इस डैम में 65 हजार करोड़ खर्च हो गए हैं.
 
 
बांध के हर गेट का वजन 450 टन का है और इसके गेट को खोलने में एक घंटे का वक्त लगता है. इस डैम में 4 लाख 25 हजार करोड़ लीटर पानी जमा करने की क्षमता है. शिलान्यास के समय प्रोजेक्ट की लागत 6300 करोड़ रु थी और बांध बनकर तैयार होने पर लागत 53,000 करोड़ रु पहुंची.
 
 
बांध की खास बात – 
1. कांक्रीट के इस्तेमाल के लिहाज से दुनिया का दूसरा सबसे बड़ा बांध, अमेरिका का ग्रांट कुली नंबर वन है.
2. बांध पर गुलाबी, सफेद और लाल रंग के 620 एलईडी बल्ब लगाए गए हैं. ये कुल 1000 वॉट के हैं. इनमें से 120 बल्ब बांध के 30 गेट पर लगे हैं. इनसे होने वाली रोशनी से ओवरफ्लो का आभास होता है.
3. डैम का मौजूदा वॉटर लेवल 128.44 मी. है. इससे 6000 मेगावॉट बिजली पैदा होगी.
 
सरदार सरोवर बांध क्यों है खास ?
कांक्रीट के इस्तेमाल के लिहाज से दुनिया का दूसरा सबसे बड़ा बांध
बांध पर गुलाबी, सफेद और लाल रंग के 620 एलईडी बल्ब लगे हैं
हर बल्ब कुल 1000 वॉट के हैं
20 बल्ब बांध के 30 गेट पर लगे हैं
बल्ब की रोशनी से ओवरफ्लो का आभास होता है
डैम का मौजूदा वॉटर लेवल 128.44 मीटर है
इससे 6000 मेगावॉट बिजली पैदा होगी
 
बता दें कि गुजरात में इस साल के आखिर में विधानसभा चुनाव होने वाले हैं इसलिए पीएम मोदी का जन्मदीन बीजेपी बड़चढ़ कर मना रही है. बीजेपी अपने विजय रथ को एक बार फिर कायम रखने की हर मुमकिन कोशिश में है. राजनीतिक गलियारों में कहा जा रहा है पीएम मोदी इन्हीं चुनाव के मद्देनजर में गुजरात में अपना जन्मदिन मनाएंगे. वहीं दूसरी तरह राज्यसभा चुनाव में कांग्रेस नेता अहमद पटेल की जीत से जहां कांग्रेसी में आशा जगी है, जिसके बाद कांग्रेस ने गुजरात में 125 सीटें जीतने का लक्ष्य रखा है.