Hindi national Sardar Sarovar Dam, PM Modi, Prime Minister, Jawaharlal Nehru, Narmada Control Authority, Gujarat, rajasthan, Maharashtra, madhya pradesh, Narmada water, canal network, Narmada Bachao Andolan, medha patkar http://www.inkhabar.com/sites/inkhabar.com/files/field/image/9_35.jpg
Home » National » दुनिया के दूसरे सबसे बड़े बांध का उद्घाटन करेंगे PM, क्या है खासियत और क्यों हो रहा है विरोध?

दुनिया के दूसरे सबसे बड़े बांध का उद्घाटन करेंगे PM, क्या है खासियत और क्यों हो रहा है विरोध?

दुनिया के दूसरे सबसे बड़े बांध का उद्घाटन करेंगे PM, क्या है खासियत और क्यों हो रहा है विरोध?

| Updated: Saturday, September 16, 2017 - 21:22
Sardar Sarovar dam, PM Modi, Prime Minister, Jawaharlal Nehru, Narmada Control Authority, Gujarat, Rajasthan, Maharashtra, Madhya Pradesh, Narmada water, canal network, Narmada Bachao Andolan, Medha Patkar

PM Modi will dedicate Sardar Sarovar dam to nation on his birthday know all details

इनख़बर से जुड़ें | एंड्रॉएड ऐप्प | फेसबुक | ट्विटर
दुनिया के दूसरे सबसे बड़े बांध का उद्घाटन करेंगे PM, क्या है खासियत और क्यों हो रहा है विरोध? PM Modi will dedicate Sardar Sarovar dam to nation on his birthday know all detailsSaturday, September 16, 2017 - 21:22+05:30
अहमदाबाद: रविवार को अपने 67वें जन्मदिन के मौके पर प्रधानमंत्री मोदी नर्मदा नदी पर बने दुनिया के दूसरे सबसे बड़े सरदार सरोवर डैम का उद्घाटन करेंगे. देश के पहले प्रधानमंत्री पंडित जवाहरलाल नेहरू ने 56 साल पहले इसकी नींव रखी थी. 
 
नर्मदा नियंत्रण प्राधिकरण ने 17 जून को बांध के 30 दरवाजे बंद कर दिए थे ताकि 138.68 मीटर तक पूरा पानी भर सके जो पहले 121.92 मीटर था. इसके अलावा पानी की भंडारण क्षमता को भी बढ़ाया गया है. डैम में पहले 1.27 मिलियन क्यूबिक मीटर जमा हो सकता था लेकिन अब 4.73 मिलियन क्यूबिक मीटर पानी जमा हो सकता है.
 
माना जा रहा है कि इस डैम से चार राज्य- गुजरात, राजस्थान, महाराष्ट्र और मध्य प्रदेश को फायदा पहुंचेगा. सरदार सरोवर डैम की वेबसाइट  http://www.sardarsarovardam.org/  के मुताबिक इसकी ऊंचाई 163 मीटर और लंबाई 1210 मीटर है. इस बांध में 30 दरवाजे हैं और हर दरवाजे का वजन करीब 450 टन हैं और इसे बंद करने में कम से कम एक घंटा लगता है. 
 
 
 
बांध की खासियत
सरदार सरोवर बांध में 4.73 मिलियन क्यूबिक पानी जमा करने की क्षमता है. ये बांध अबतक अपनी लागत से दोगुनी यानी 16000 करोड़ रूपये की कमाई कर चुका है. बांध की क्षमता और क्षेत्रफल के लिहाज से बांध अमेरिका के ग्रांट कुली के बाद दुनिया का दूसरा सबसे बड़ा बांध है. इस डैम की उंचाई 168 मीटर और लंबाई 5223 मीटर है. सरदार सरोवर  डैम को 1000 वॉट के 620 एलईडी बल्बों से सजाया गया है जिनमें से 120 बल्ब बांध के 30 गेटों पर लगे हैं. इनकी रौशनी से बांध में पानी के ओवरफ्लो का पता लगता है. 
 
इस बांध को बनाने में 86.20 लाख क्यूबिक मीटर कंक्रीट का इस्तेमाल किया गया है. इस डैम का सबसे ज्यादा फायदा गुजरात को मिलेगा. डैम खुलने के बाद गुजरात के 15 जिलों के 3137 गांवों की 18.45 लाख हैक्टियर जमीन को सिंचाई के लिए पानी मिलेगा.
 
इसके अलावा इस बांध से राजस्थान के सूखाग्रस्त बारमेड़ और जालौन जिले की 2.46.000 हैक्टियर जमीन को पानी मिलेगा साथ ही महाराष्ट्र के आदिवासी इलाके की 37,500 हैक्टियर जमीन तक पानी पहुंचेगा. 
 
 
बांध से बनेगी 6000 मेगावॉट बिजली
 
इसके अलावा बांध से 6000 मेगावॉट बिजली पैदा होगी. बिजली का 57 फीसदी हिस्सा मध्य प्रदेश को मिलेगा. इसके अलावा महाराष्ट्र और गुजरात को भी 27 फीसदी और 16 फीसदी बिजली मिलेगी. इस परियोजना से 18 लाख हेक्टेयर जमीन को फायदा होगा और नहरों के जरिए 9000 गांवों में सिचाई की जा सकेगी.
 
 
क्यों हो रहा है डैम का विरोध?
 
1961 में इस प्रोजेक्ट का उद्घाटन हुआ था लेकिन कई कारणों की वजह से इसमें देरी होती चली गई. देरी होने के पीछे सबसे बड़ा कारण रहा नर्मदा बचाओ आंदोलन जिसे सामाजिक कार्यकर्ता मेधा पाटकर ने खड़ा किया. नर्मदा बचाओ आंदोलन के लोगों ने पर्यावरण और पुनर्वास को आधार बनाकर सुप्रीम कोर्ट से बांध के निर्माण पर स्टे ऑर्डर ले लिया जिसके बाद 1996 में बांध का काम रोक दिया गया. 
 
 
साल 2000 में सुप्रीम कोर्ट ने बांध बनाने के पक्ष में फैसला सुनाया लेकिन कोर्ट ने ये शर्त भी रखी कि जितने भी लोग इस प्रोजेक्ट की  भी लोग प्रभावित होते हैं उनके पुनर्वास की व्यवस्था की जाएगी या उन्हें मुआवजा दिया जाएगा.  
 
मध्यप्रदेश की राजधानी भोपाल में अब भी डैम का विरोध हो रहा है. सामाजिक कार्यकर्ता मेधा पाटकर के मुताबिक सरदार सरोवर के 30 गेट खुलते ही मध्य प्रदेश के अलीराजपुर, बड़वानी, धार और खारगोन जिलों के 192 गांव जलमग्न हो जाएंगे. इसके अलावा महाराष्ट्र के धर्मपुरी के 33 और गुजरात के 19 गांव हमेशा के लिए पानी में डूब जाएंगे. 
 
First Published | Saturday, September 16, 2017 - 20:59
For Hindi News Stay Connected with InKhabar | Hindi News Android App | Facebook | Twitter
Web Title: PM Modi will dedicate Sardar Sarovar dam to nation on his birthday know all details
(Latest News in Hindi from inKhabar)
Disclaimer: India News Channel Ka India Tv Se Koi Sambandh Nahi Hai

Add new comment

CAPTCHA
This question is for testing whether or not you are a human visitor and to prevent automated spam submissions.

फोटो गैलरी

  • कजाकिस्तान में भारतीय पीएम नरेंद्र मोदी से मिलते अफगानी राष्ट्रपति अशरफ़ ग़नी
  • उत्तराखंड के बद्रीनाथ मंदिर में राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी
  • मुंबई के केलु रोड स्टेशन पर एक ट्रेन में सवार अभिनेता विवेक ओबेरॉय
  • मुंबई में अभिनेत्री सनी लियोन "ज़ी सिने पुरस्कार 2017" के दौरान प्रदर्शन करते हुए
  • सूफी गायक ममता जोशी, पटना में एक कार्यक्रम के दौरान प्रदर्शन करते हुए
  • लखनऊ में उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ को बधाई देते प्रधान मंत्री नरेंद्र मोदी
  • मुंबई में आयोजित दीनानाथ मंगेसकर स्मारक पुरस्कार समारोह में अभिनेता आमिर खान
  • चेन्नई बंदरगाह पर भारतीय तटरक्षक बल आईसीजीएस शनाक का स्वागत
  • आगरा में ताजमहल देखने पहुंचे आयरलैंड के क्रिकेटर
  • अरुणाचल प्रदेश में सेला दर्रे पर भारी बर्फबारी का एक दृश्य
Zindagi na Milegi Dobara