नई दिल्ली: ट्रेन में अक्सर लोगों खाने से  शिकायत रहती है लेकिन रेलवे ने इसका समाधान ढूढ़ निकाला है. अब आप तुरंत बता सकते हैं कि खाना या सर्विस कैसी है. सूत्रों के मुताबिक शनिवार से रेलवे ने तेजस, राजधानी, अगस्त क्रांति और शताब्दी जैसी प्रीमियम ट्रेनों में टेबलेट के जरिए कस्टमर फीडबैक लेने की शुरूआत की है. गुरुवार को अहमदाबाद-दिल्ली के बीच चलने वाली राजधानी ट्रेन में ट्रायल बेसिस पर इसका इस्तेमाल भी किया जा चुका है. 
 
आईआरसीटीसी के प्रवक्ता पिनाकिन मोरावाला के मुताबिक ‘ टेबलेट हमें ग्राहकों का तुरंत फीडबैक देने में मदद करेगा. ये ना सिर्फ खाने की गुणवत्ता को सुधारेगा बल्कि यात्रियों का तुरंत फीडबैक भी उपलब्ध कराएगा.’ आईआरसीटीसी के वेस्टर्न जोन के जनरल मैनेजर अरविंद मालखेड़े के मुताबिक ‘ हमें टेबलेट मिल चुके हैं और हमने अपने स्टाफ को भी बांट दिए हैं. उन्होंने कहा कि शनिवार से तेजस और राजधानी ट्रेनों में इसका इस्तेमाल शुरू हो जाएगा. 
 
 
टेबलेट में मौजूद सॉफ्टवेयर यात्री का नाम, उसका फोन नंबर और ट्रेन की जानकारी के अलावा कई सवाल पूछेगा जैसे खाना की क्वालिटी, गुणवत्ता, साफ-सफाई आदि. जब ये पूरा फॉर्म भरकर जमा हो जाएगा तो यात्री के मोबाइल पर एक थैंक्यू मैसेज भी आएगा. फिर से सारी डीटेल रेलवे के पास जाएगी. 
 
बताया जा रहा है कि ये व्यवस्था इसलिए शुरू की गई क्योंकि कुछ समय पहले तेजस एक्सप्रेस में सफर करने वाले एक यात्री ने शिकायत दर्ज की थी कि उन्हें ना तो पूरी मात्रा में खाना दिया गया और ना ही नाश्ता दिया गया.