लखनऊ: योगी सरकार आने के बाद यूपी पुलिस ने अब तक 15 कुख्यात बदमाशों को ढेर किया है. ये आकड़े DGP ने पेश किए हैं. डीजीपी के मुताबिक यूपी में पुलिस और बदमाशों के बीच अब तक 420 मुठभेड़ हो चुकी है. जिसमें 88 पुलिस कर्मी भी घायल हुए. आंकड़ों के अनुसार मेरठ में सबसे ज्यादा 193 एनकाउंटर हुए हैं और राजधानी लखनऊ में सबसे कम 7 मुठभेड़ हुए. डीजीपी के मुताबिक 20 मार्च से 14 सितंबर के बीच प्रदेश में पुलिस व बदमाशों के बीच 420 मुठभेड़ में अब तक 15 बदमाश ढेर हुए, जबकि 1106 को गिरफ्तार कर जेल पहुंचाया गया है. मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने साफ कहा था कि निर्दोषों को छेड़ेंगे नहीं और वहीं दोषियों को छोड़ेंगे नहीं. सीएम के इसी निर्देश पर कार्रवा करते हुए पुलिस कुख्यात बदमाशों पर कहर बनकर टूटी है
 
दरअसल योगी आदित्यनाथ ने डीजीपी से साफ कह दिया था कि पुलिस अपराधियों के खिलाफ विशेष अभियान चलाकर उन्हें सलाखों के पीछे भेजा जाए. इसी निर्देश के बाद पुलिस हरकत में आई और अपराधियों के खिलाफ धड़पकड़ कार्रवाई शुरू हुई. लगतार हो रहे भुठभेड़ की कार्रवाई से अपराधी और कुख्यात बदमाशों के हौंसले से पस्त हो गए हैं. पुलिस के मुताबिक गिरफ्तार किए गए 1106 अपराधियों में 868 अपराधी तो ऐसे हैं जिन पर पुलिस की ओर से इनाम घोषित था. वहीं योगी के जिले गोरखपुर में भी दो मुठभेड़ की गई हैं और 13 अभियुक्तों को गिरफ्तार किया गया है. पुलिस ने अब तक 54 अपराधियों पर एनएसए के तहत कार्रवाई की है. 69 अपराधी ऐसे हैं जिन पर सरकार ने गैंगस्टर एक्ट के तहत कार्रवाई की है.