पंचकूला: डेरा सच्चा सौदा प्रमुख गुरमीत राम रहीम की मुंहबोली बेटी हनीप्रीत को लेकर हरियाणा पुलिस ने बिहार पुलिस को अलर्ट भेजा है. ये नेपाल से सटे 7 जिलों में अलर्ट जारी किया गया है. खबर है कि हनीप्रीत बिहार के रास्ते नेपाल भाग सकती है. बता दें कि राम रहीम के जेल जाने के बाद से ही हनीप्रीत फरार चल रही है. हरियाणा पुलिस की टीम बिहार पुलिस के साथ मिलकर नेपाल बॉर्डर के जिलों में हनीप्रीत की तलाश में दबिश दे रही है. हरियाणा पुलिस ने राम रहीम की गिरफ्तारी के बाद से ही फरार हनीप्रीत की तलाशी के लिए रॉ (RAW) और नेपाल पुलिस से भी मदद मांगी है. इससे पहले हरियाणा पुलिस को सूचना मिली थी कि हनीप्रीत नेपाल भागने का प्रयास कर सकती है.
 
हनीप्रीत की गिरफ्तारी के लिए पुलिस ने लुकआउट नेटिस भी जारी कर दिया था. इसके साथ ही पुलिस ही नेपाल बॉर्डर से लगे यूपी के तमाम जिलों में हनीप्रीत के गली-गली पर पोस्टर लगाए गए थे. इतना ही नहीं, हनीप्रीत के भागने की सूचना के मद्देनजर नेपाल बॉर्डर के करीब सुरक्षाबलों को अलर्ट पर रख दिया गया था. बॉर्डर इलाके के सभी पुलिस स्टेशन और इंटेलिजेंस यूनिट को अलर्ट पर रहने को कहा गया था. बता दें कि हनीप्रीत पर सीबीआई कोर्ट से राम रहीम को दोषी सिद्ध होने के बाद उसे भगाने की साजिश रचने का आरोप है. उसके खिलाफ देशद्रोह का मामला दर्ज किया गया है. स्थानीय पुलिस सहित सीबीआई की टीम इस मामले की जांच कर रही है. बताया जा रहा है कि हनीप्रीत का असली नाम प्रियंका तनेजा है. बताया जा रहा है कि 25 अगस्त को राम रहीम को दोषी साबित होने के दिन ही हनीप्रीत को आखिरी बार देखा गया. उसके बाद हनीप्रीत गायब बताई जा रही है. पुलिस हनीप्रीत के खिलाफ लुक आउट नोटिस भी जारी कर चुकी है और पुलिस चप्पे-चप्पे पर उसे ढूंढ रही है. 
 
हनीप्रीत कहां है, इसे लेकर पुलिस को बड़ा सुराग मिलने वाला है. हरियाणा पुलिस ने हनीप्रीत के ड्राइवर के साथ-साथ उसके बेहद करीबी शख्स दिलावर इंसा को गिरफ्तार किया है. बताया जाता है कि दिलावर की हनीप्रीत से काफी नजदीकी थी. ऐसा माना जा रहा है कि दिलावर जानता है कि हनीप्रीत कहां है.
 
दिलावर इंसा की सोनीपत से गिरफ्तारी के बाद उसे पंचकूला में सीजेएम कोर्ट में पेश किया गया. जहां कोर्ट ने उसे 7 दिन की पुलिस रिमांड पर भेज दिया. माना जा रहा है कि दिलावर की गिरफ्तारी के बाद हनीप्रीत का सुराग मिल सकता है. हनीप्रीत को पकड़ने के लिए हरियाणा पुलिस कई राज्यों की खाक छान चुकी है.