सूरत : सूरत में भारतीय जनता पार्टी युवा मोर्चा के कार्यक्रम के खिलाफ पाटीदार युवाओं ने प्रदर्शन किया. पाटीदारों के विरोध प्रदर्शन और हंगामे के दौरान पुलिस ने 10 पाटीदार प्रदर्शनकारियों को गिरफ्तार कर लिया. बीजेपी युवा मोर्चा के विजय टंकर सम्मेलन के विरोध में प्रदर्शन कर रहे पाटीदार युवकों पर काबू पाने के लिए पुलिस को लाठी चार्ज करना पड़ा. 
 
घटना के बाद पाटीदार प्रदर्शनकारी हिंसक हो गए और दो बसों को आग के हवाले कर दिया. देर रात सूरत में हुई इस घटना के बाद पुलिस ने कुछ प्रदर्शनकारियों को हिरासत में ले लिया है. बता दें कि आज भी जापान के प्रधानमंत्री शिंजो आबे गुजरात पहुंच रहे हैं.
 
 
मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार मंगलवार की शाम सौराष्ट्र भवन में गुजरात बीजेपी युवा मोर्चा के कार्यक्रम में हार्दिक पटेल के नेतृत्व वाली पाटीदार अनामत आंदोलन समिति से कथित तौर पर जुड़े कुछ लोगों ने हंगामा करने की कोशिश की थी. यह कार्यक्रम भाजपा ने आगामी विधानसभा चुनावों को ध्यान में रखते हुए आयोजित किया था. बीजेपी पूरे राज्य में इस तरह की बैठकें आयोजित कर रही है.
 
सूरत के पुलिस आयुक्त ने बताया कि प्रदर्शनकारियों ने पुलिस पर पथराव किया. यही नहीं हीराबाग सर्किल में दो बसें भी फूंक दी. इलाके में अब स्थिति नियंत्रण में है. कंट्रोल रूम के एक अधिकारी ने बताया कि पुलिस को हल्के बल का भी प्रयोग करना पड़ा.
 
वराछा के हीराबाग इलाके में हुए हंगामे की खबर शहर में फैलते ही वराछा के अलावा पूणा, कापोद्रा समेत पाटीदार बहुल इलाकों में एहतियातन भारी संख्या में पुलिस को तैनात कर दिया गया. पुलिस ने पाटीदार बहुल इलाकों में गश्त की, ताकि माहौल न बिगड़ सके. पहले भी वराछा में पास समर्थक बवाल मचा चुके हैं. घटना के चलते पुलिस ने वराछा के अलावा कतारगाम, कापोद्रा, पूणा समेत कई पाटीदार बहुल इलाकों में पेट्रोलिंग की.