मुंबई: रेयान स्कूल के मालिक और सीईओ रेयान पिंटो पर भी गिरफ्तारी की तलवार लटक रही है. रेयान पिंटो ने गिरफ्तारी से बचने के लिए बॉम्बे हाईकोर्ट में अग्रिम ज़मानत की याचिका दी है. इस अर्जी पर मंगलवार को सुनवाई होगी. रेयान इंटरनेशनल स्कूल के दो बडे अधिकारियों की गिरफ्तारी के बाद ये जमानत याचिकायें दायर की गई हैं. पिंटो के वकील नितीन प्रधान ने बताया कि स्कूल के संस्थापक अध्यक्ष ऑगस्टीन पिंटो और स्कूल की प्रबंध निदेशक उनकी पत्नी ग्रेस पिंटो ने अपने बेटे रेयान पिंटो के साथ बॉम्बे हाईकोर्ट में अग्रिम ज़मानत की याचिका दी है. जज अजय गडकरी के सामने सोमवार को यह सुनवाई की गई है. वह मंगलवार को इस मामले पर सुनवाई करेंगे. 
 
वकील ने बताया की बच्चे प्रद्यु्म्न की मौत हम सबके लिए दुखद और दुर्भाग्यपूर्ण है लेकिन प्रबंधन को इस घटना के लिए अपराधी नहीं ठहराया जा सकता. वे खुद दुखद परिस्थितियों के पीड़ित हैं. याचिका में कहा गया, इस मौत से न सिर्फ बच्चे के माता-पिता और परिवार को गहरा दुख हुआ है, बल्कि न्यासी, प्रबंधन, कर्मचारी और स्कूल के छात्र भी बेहद दुखी हैं. 
 
इस बीच हरियाणा पुलिस की एक टीम मुंबई पहुंच चुकी है. ये टीम रेयान इंटरनेशनल स्कूल के कांदीवली स्थित हेडक्वार्टर पहुंची. इस टीम का मकसद रेयान स्कूल के स्ट्रक्चर का पता लगाना है और ये समझना है कि स्कूल में किसकी क्या ज़िम्मेदारी होती है. इस बीच हरियाणा पुलिस ने इस बात से इनकार नहीं किया कि कुछ और लोगों की गिरफ्तारी हो सकती है. ये लोग स्कूल मैनेजमेंट के भी हो सकते हैं.
 
बता दें कि रेयान स्कूल की जांच कर रही तीन सदस्यीय कमेटी ने बड़ी लापरवाही पाई है. जिसके चलते स्कूल में पढ़ने वाले बच्चों की सुरक्षा से खिलवाड़ हो रहा था. कमेटी की रिपोर्ट में कहा गया है कि स्कूल के भीतर जो 14 CCTV कैमरे लगे थे, उनकी प्लेसमेंट सही नहीं थी. यानी वो ठीक जगह पर नहीं लगाए गए थे. स्कूल के Supporting स्टाफ के लिए अलग से कोई टॉयलेट नहीं है.
 
ये भी पढ़ें:
 
\