जोधपुर. देश की पहली पूर्णकालिक महिला रक्षा मंत्री का पदभार संभालने के चार दिन बाद निर्मला सीतारमण ने पहली बार रविवार को बाड़मेर स्थित उत्तरलाई एयरफोर्स स्टेशन का दौरा किया. बता दें कि यह इलाका पाकिस्तान से सटी पश्चिमी सीमा पर स्थित है. 
 
दौरे के दौरान रक्षा मंत्री ने कहा कि सभी मोर्चों पर तत्परता और हर स्थिति के लिए तैयार रहने के माहौल को बनाए रखने के लिए सशस्त्र बलों की मांगों को पूरा करना उनकी प्राथमिकता होगी.
 
उत्तरलाई पहुंचते ही रक्षा मंत्री सीतारमण का स्वागत वायुसेना प्रमुख एयर चीफ मार्शल बीएस धनोआ, सीनियर एयर स्टाफ ऑफिसर डीएस रावत और संजय शर्मा ने किया. 
 
 
एयरबेस पर पहुंचते ही रक्षा मंत्री निर्मला को वायुसेना के जवानों ने गार्ड ऑफ ऑनर दिया. इसके बाद उन्हें हवाई बेस की भूमिका और हवाई संचालन कैसे होता है इन सबके बारे में बताया गया. 
 
रक्षा मंत्री के एयर ट्रैफिक कंट्रोल सेंटर के दौरे के दौरान उन्हें फाइटर स्ट्राइक ऑपरेशन की एक झलक भी दिखाई गई. इसके बाद रक्षा मंत्री ने वायुसेना के जवानों के साथ बातचीत की और उन्हें संबोधित भी किया.
 
 
वहां से प्रस्थान से पहले मंत्री ने मीडिया के लोगों से भी बातचीत की और उनके सवालों का जवाब भी दिया. रक्षा मंत्रालय के प्रवक्ता अभिषेक मतिमान ने बताया कि 30 दिसंबर 2001 के बाद किसी भी रक्षा मंत्री की ओर से यह पहला दौरा है.