पुणे. इंडियन फ़िल्म और टेलीविज़न इंस्टीट्यूट (FTII) में गजेंद्र चौहान की नियुक्ति को लेकर छात्रों की हड़ताल 50 दिन से जारी है. अब एक नए विवाद में FTII नियंत्रण परिषद की सदस्य अनघा घैसास ने प्रदर्शन कर रहे छात्रों पर बड़ा हमला बोला है. अनघा का कहना है कि यहां छात्र पढ़ाई से ज़्यादा ड्रग्स लेने और अनैतिक संबंधों में रूचि रखते हैं. इनका ख़ुद का राजनीतिक एजेंडा है. 

आपको बता दें कि अनघा RSS की नजदीकी मानी जाती हैं. संस्था के छात्र जिन लोगों की नियुक्ति का विरोध कर रहे हैं, उनमें गजेंद्र चौहान के अलावा अनघा घैसास, नरेंद्र पाठक, राहुल सोलपुरकर, प्रांजल सैकिया और शैलेश गुप्ता भी शामिल हैं.

अनघा घैसास ने निर्माता के रूप में नरेंद्र मोदी, नानाजी देशमुख, राष्ट्रीय रक्षा अकादमी और राम मंदिर पर डॉक्यूमेंट्री बनाई हैं. कोर्ट ने कहा कि अनघा को डॉक्यूमेंट्री और काल्पनिक फ़िल्म के बीच का फ़र्क़ तक मालूम नहीं है. निदेशक गजेंद्र चौहान ने भी बीबीसी को बताया है कि उन्हें छात्रों की कई शिकायतें मिली हैं जिन्हें सूचना एंव प्रसारण मंत्रालय भेज दिया गया है.