इंदौर : योग गुरु बाबा रामदेव ने डेरा प्रमुख गुरमीत राम रहीम के मामले पर तीखी प्रतिक्रिया दी है. रामदेव ने कहा है कि ये सभी पाखंडी संत राम के नाम को बदनाम करने का काम कर रहे हैं. योग गुरु ने यह बात इंदौर में हो रहे एक कार्यक्रम में कही.
 
राम देव इस वक्त मध्य प्रदेश के इंदौर में हैं. वह यहां आयोजित एक निजी कार्यक्रम में शामिल हुए हैं. उन्होंने राम रहीम के मामले पर अपना गुस्सा जाहिर करते हुए कहा है कि डेरा प्रमुख ने राम के नाम पर धब्बा लगाने वाला काम किया है और पाखंडी संतों ने राम का नाम बदनाम कर दिया है.
 
इसके साथ ही रामदेव ने धर्म और राजनीति में शुद्धिकरण की करने की आवश्यकता की भी बात कही. इसके पहले भी राम रहीम की सजा के ऐलान के बाद योग गुरु बाबा रामदेव ने कहा था कि राम रहीम पर हुआ फैसला यह साबित करता है कि कोई भी कानून से ऊपर नहीं होता. सभी को कानून का सम्मान करना चाहिए, जिसने कोई अपराध नहीं किया उसे किसी भी प्रकार से डरने की जरुरत नहीं है.
 
रामदेव ने आगे कहा कि अगर किसी ने छोटे से छोटा और बड़े से बड़ा अपराध किया है तो उसे सजा जरूर मिलेगी. कोर्ट के फैसला का स्वागत करते हुए रामदेव ने कहा कि कोई भी ताकतवर कानून से बच नहीं सकता. न्याय में देरी हो सकती है अंधेर नहीं. धर्म के नाम पर कभी भी अधर्म नहीं होना चाहिए.
 
 
बता दें कि साध्वी रेप केस में डेरा सच्चा सौदा प्रमुख गुरमीत राम रहीम को 20 साल की सज़ा सुनाई गई है. दो रेप मामलों में राम रहीम को 10-10 साल की सज़ा सुनाई गई है. जज ने ये भी आदेश दिया है कि एक सज़ा खत्म होने के बाद दूसरी सज़ा शुरू होगी. इसके अलावा राम रहीम पर 15-15 लाख रुपए का जुर्माना भी लगाया है जिसमें से कोर्ट के आदेश के अनुसार दोनों पीड़िता को 14-14 लाख रुपए दिए जाएंगे. 
 
राम रहीम पर हत्या के भी दो मामले चल रहे हैं. पत्रकार रामचंद्र छत्रपति हत्याकांड भी राम रहीम के गले की फांस बना हुआ है. इसमें भी राम रहीम को कड़ी सज़ा मिल सकती है. 24 सितंबर 2002 को इस मामले में सीबीआई जांच के आदेश हुए.