श्रीनगर. बीएसएफ जवानों पर जम्मू-कश्मीर में हुए आतंकी हमले में जिंदा पकड़े गए आतंकी कासिम खान ने पुलिस को बताया है कि उनका निशाना अमरनाथ यात्रा पर जा रहे यात्रियों का जत्था था. बताया जा रहा है कि बीएसएफ की बस के ठीक पीछे अमरनाथ यात्रियों का एक जत्था आने वाला था. इस हमले के चलते भगवती नगर से निकले अमरनाथ यात्रियों के जत्थे को उधमपुर में ही रोक दिया गया है. जम्मू-श्रीनगर हाईवे को दोनों तरफ से बंद कर दिया गया है. हालांकि, होम मिनिस्टर राजनाथ सिंह ने कहा है कि इस हमले को अमरनाथ यात्रियों पर हमले से जोड़ कर न देखा जाए.

कहां से आए थे आतंकी?
सूत्रों का कहना है कि आतंकी एक ट्रक में कश्मीर की तरफ से आए थे. सबसे पहले आतंकियों को देखने वाले वीडीसी सदस्यों ने इसकी जानकारी दी है. उन्होंने बताया कि आतंकी ट्रक में सवार होकर आए थे. समरोली इलाके में पहुंचने पर ट्रक से उतर गए और झाड़ियों में छिप गए थे. जैसे ही बीएसएफ की बस वहां पहुंचीं उन्होंने हमला कर दिया. बताया जा रहा है कि ये पंजाब के गुरदासपुर में हमला करने वाले आतंकियों के साथ आए थे. ये सभी पुंछ के रास्ते भारत की सीमा में 6 दिन पहले आए थे. पकड़ा गया आतंकी खुद को पाकिस्तान के फैसलाबाद का बता रहा है.