जयपुर. साध्वी रेप केस में दोषी पाए गए डेरा प्रमुख राम रहीम के खिलाफ 7 सितंबर को जयपुर के मजिस्ट्रेट कोर्ट में एक महिला को गायब करने के केस में तारीख है. राम रहीम पर डेरा से जिस औरत को गायब करने का आरोप है उसका पति ये केस लड़ रहा है.

5 मई, 2015 को कमलेश नाम के एक व्यक्ति ने कोर्ट में केस दायर किया था और आरोप लगाया था कि वो और उसकी पत्नी राम रहीम के सिरसा आश्रम में जाते थे. लेकिन वहां पर उसकी पत्नी को कैद कर लिया गया है.

जयपुर के रहने वाले कमलेश ने आरोप लगाया है कि वो अपनी 26 साल की पत्नी और बच्चों के साथ सिरसा डेरे में गया था. 23 से 25 मार्च, 2015 तक वो आश्रम में था. डेरा का इंचार्ज दत्ता पत्नी को राम रहीम से मिलवाने ले गया जिसके बाद उसकी पत्नी नहीं मिली और पूछने पर आश्रम से भगा दिया गया.

पढ़ें- रेप केस दबाने के चक्कर में 2-2 मर्डर केस के दलदल में फंस गए राम रहीम

कोर्ट ने जयपुर के जवाहर नगर थाने को मुकदमा दर्ज कर उसकी पत्नी को पेश करने के लिए कहा था. 8 मई, 2015 को जवाहर नगर थाने में राम रहीम के खिलाफ एफआईआर दर्ज की गई लेकिन जांच पूरी नहीं हुई है.

पुलिस ने कोर्ट में अपने प्रोग्रेस रिपोर्ट में बताया है कि डेरा में जाने की अनुमति नहीं मिल पा रही है. इस मामले में कोर्ट ने 7 सितंबर को सभी पक्षों को कोर्ट में तलब किया है जिस दौरान कमलेश की भी गवाही होनी है.

पढ़ें- राम रहीम के बुरे दिन तो अभी शुरू हुए हैं, 2 मर्डर केस में भी आने वाला है फैसला