पटना : सृजन घोटाले में गिरफ्तार 13 आरोपियों में से एक नाजिर महेश मंडल की आज भागलपुर के अस्पताल में मौत हो गई. जिसके बाद बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री लालू यादव ने कटाक्ष करते हुए ट्विटर पर लिखा है कि ‘सृजन महाघोटाले में पहली मौत. 13 गिरफ़्तार उनमें से एक की मौत. मरने वाला भागलपुर में नीतीश की पार्टी के एक बहुत अमीर नेता का पिता था.’ लालू यादव ने एक खबर को शेयर करते हुए ये ट्वीट किया.
 
बताया जा रहा है कि मृतक महेश मंडल कल्याण विभाग में कार्यरत था. साथ ही जेडीयू युवा मोर्चा के जिला अध्यक्ष और जिला परिषद के सदस्य शिव कुमार का पिता था. महेश मंडल के परिजनों के अनुसार वो इस घोटाले से संबंधित काफी राज जानता था और इनका खुलासा कर सकता था.
 
बता दें कि करीब 1000 करोड़ के सृजन घोटाले में कल्याण विभाग से भी भारी राशि सृजन के खाते में ट्रांसफर हुई. इसमें नाजिर महेश मंडल की भूमिका संदिग्ध मानी जा रही है. बताया जा रहा है कि महेश मंडल ने पिछले 8 साल में ही काफी ज़मीन भी खरीदी थी.
 
 
आठ साल पहले उन्होंने शाहकुंड में 45 बीघा जमीन खरीदी. पिस्ता गांव में भी टुकड़ों में 15 बीघा जमीन की जानकारी बताई जा रही है. आठ साल पहले नाज़िर महेश ने इस मकान के पास ही आधा बीघा जमीन पर 26 कमरों का आलीशान मकान बनवाया. बाथरूम तक में एसी लगा था.