मुंबई : अयोध्या में राम मंदिर और बाबरी मस्जिद विवाद मामले पर शिया मौलवी मौलाना कल्बे सादिक ने एक अहम बयान दिया है, उन्होंने मुंबई में आयोजित वर्ल्ड पीस कार्यक्रम के दौरान कहा कि अगर फैसला मुस्लमानों के हक में आता है तो वह खुशी-खुशी उस प्लॉट को हिन्दू भाईयों को दे दें क्योंकि अगर वो एक प्लाट दे देंगे,तो करोड़ों दिल जीतेंगे.
 
कल्वे ने कहा मेरी मौत के बाद आने वाली पीढ़ियों को लगेगा जो मैंने कहा वो सही कहा था. चीन के रिश्तों पर कहा की हमारे तीन बेटे है हम तीनों को युद्ध के लिए भेज देंगे. कल्बे सादिक के बयान के बाद बाबा राम देव के अलावा मंच पर उपस्थित सभी लोगों उनकी सराहना की.
 
उन्होंने आगे कहा कि भारत एक चमन है,यहां हर एक तरह की खुशबू है, इस वक्त भारत मुश्किल में है एक ओर जहां पाकिस्तान भौक रहा है तो वहीं दूसरी ओर चीन आंख दिखा रहा है. हम सब एक हैं,बाबरी मस्जिद की एक जटिल समस्या है. अगर सुप्रीम कोर्ट हिन्दू के पक्ष में फैसला सुनता तो मुसलमानों को शांति से फैसले को मानेऔर कोई विरोध नहीं करना चाहिए.
 
SC में बोला शिया वक्फ बोर्ड- रामलला वहीं विराजेंगे, हम मस्जिद थोड़ी दूर पर बना लेंगे
 
मौलाना कल्बे सादिक के इस बयान पर केंद्रीय मंत्री हर्षवर्धन ने भी उनकी तारीफ की है. उन्होंने कहा कि ये बात कह कर मौलाना साहब ने सभी का दिल जीत लिया है. बता दें कि सुप्रीम कोर्ट ने राम जन्मभूमि-बाबरी मस्जिद विवाद में सभी पक्षों को ऐतिहासिक दस्तावेजों के अनुवाद के लिए 3 महीने का समय दिया है. इस मामले की अगली सुनवाई 5 दिसंबर को होगी.