नई दिल्ली. मॉनसून सत्र के दौरान संसद में लगातार हो रहे हंगामे को रोकने के लिए पीए मोदी सोमवार के दिन सर्वदलीय बैठक करेंगे. हंगामे के कारण सरकार किसी भी विषय पर चर्चा नहीं कर पा रही है और संसद का कामकाज प्रभावित हो रहा है.

कांग्रेस की तरफ से ललितगेट और व्यापम मामले में सुषमा स्वराज, वसुंधरा राजे और शिवराज सिंह चौहान के इस्तीफे की मांग कर रही है. इस बीच संसदीय कार्यमंत्री वेंकैया नायडू ने अख़बार टाइम्स ऑफ़ इंडिया से कहा है कि अगर विपक्ष संसद में चर्चा होने देती है और चर्चा के दौरान ज़रूरत पड़ती है तो प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी उसमें दखल दे सकते हैं.

संसद का मॉनसून सत्र 21 जुलाई से शुरू हुआ था. सत्र का आधा वक़्त बीत चुका है, लेकिन कोई कामकाज अब तक नहीं हो पाया है.