गोरखपुर : उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के संसदीय क्षेत्र गोरखपुर के बीआरडी अस्पताल में हुई बच्चों की मौत पर कोहराम मचा हुआ है. पिछले 48 घंटों में जहां 32 बच्चों की मौत हो गई है तो वहीं अगर पिछले पांच दिनों को देखा जाए तो 60 बच्चों की मौत हो चुकी है.
 
बच्चों की मौत पर सोशल मीडिया के जरिए लोगों ने योगी सरकार और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर जोरदार हमला किया है. ट्विटर और फेसबुक पर लोग लगातार ही इस घटना की आलोचना कर रहे हैं और योगी सरकार के साथ-साथ केंद्र पर हमला कर रहे हैं.
 
ट्विटर पर मेघा नाम की महिला ने कहा है कि 30 बच्चे मरे नहीं हैं उनका मर्डर किया गया है और जिन्होंने मारा है उन्हें कड़ी से कड़ी सजा दी जानी चाहिए. 
 
तहसीन पूनावाला ने ट्वीट कर कहा, ‘जरा कल्पना कीजिए कि अगर 30 बच्चों की जगह अगर 30 गाय की मौत होती तो क्या माहौल हो जाता.’ तहसीन ने कहा, ‘प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी आपने पूर्तगाल के जंगलों में लगी आग पर बात की थी, लेकिन गोरखपुर में 30 बच्चे मर गए हैं, लेकिन आप चुप हैं.’
 
 
 
पंखुड़ी पाठक ने ट्वीट किया, ‘एक दिन में गोरखपुर में 30 बच्चों की मौत हो गई है, उस यूपी में जहां बीजेपी का शासन है और बीजेपी का आईटी सेल #ModiTheSuperPM ट्रेंड कर रहा है. कोई शर्म बाकी भी है या नहीं.’
 
पंकज ने कहा, ‘जब हम सब लोग ‘मंदिर वहीं बनेगा’ में बिजी हैं तो ‘हॉस्पिटल ठीक से चलेगा’ तक पहुंचने में कितना समय लगेगा.’
 
 
 
तहसीन पूनावाला ने कहा, ‘गोरखपुर अस्पताल में बच्चे इसलिए मर रहे हैं क्योंकि राज्य ने ऑक्सीन के लिए पैसे नहीं दिए थे वहीं राज्य दूसरी ओर गाय के लिए एंबुलेंस चला रही है.’
 
विजेता सिंह ने ट्वीट किया, ‘गोरखपुर अस्पताल में बच्चे मर रहे हैं लेकिन UP सरकार मदरसों में कैमरा फिक्स करने में बिजी है’
 
अनुभव सिन्हा ने कहा, ‘बच्चों हमें माफ करना. हम नाकामयाब हो गए. ये कोई खूबसूरत दुनिया नहीं है लेकिन आप लोग इस दुनिया में कुछ बदलाव ला ही सकते थे.’
 
वरिष्ठ पत्रकार दिलीप सी. मंडल ने कहा, ‘वादा तो श्मशान का ही था. मोदी-योगी वचन के पक्के हैं.’
 

 
राजीव यादव ने लिखा, ‘सामूहिक जनसंहार करने वालों ने किया बाल संहार #Gorakhpur.’