लखनऊ : सीएम योगी आदित्यनाथ के संसदीय क्षेत्र गोरखपुर के बीआरडी अस्पताल में अब तक 63 बच्चों की मौत हो चुकी है. न्यूज एजेंसी एएनआई के अनुसार कल तक मौतों का आंकड़ा 60 था, लेकिन आज 3 और बच्चों की मौत हो गई. जानकारी के मुताबिक ऑक्सीजन की कमी को बच्चों की मौत का सबसे बड़ा कारण बताया जा रहा है. इस घटना को लेकर राज्य की विपक्षी पार्टियों ने बीजेपी और राज्य सरकार पर जमकर निशाना साधा है.
 
BSP की योगी सरकार को बर्खास्त करने की मांग
बहुजन समाज पार्टी ने इस घटना के लिए राज्य की बीजेपी सरकार को जिम्मेदार ठहराते हुए योगी सरकार को बर्खास्त करने की मांग की है. पार्टी के ऑफिशियल ट्वीटर हैंडल से इस घटना से संबंधित खबरे को रिट्वीट करके लिखा गया है कि योगी सरकार को तुरंत बर्खास्त किया जाए और स्वास्थ मंत्री सहित सभी स्टाफ को जेल भेजना चाहिए. वहीं अक अन्य ट्वीट में एक समाचार चैनल की वीडियो को शेयर करते हुए बीजेपी पर कटाक्ष करते हुए लिखा है कि गाय और गोबर से फुर्सत मिले तभी तो बच्चों को देखेंगे.
 
 
अखिलेश यादव बोले-पीड़ितों को 20 लाख का मुआवदा दे सरकार
BSP की प्रतिक्रिया के इतर सपा ने घटना पर सधी हुई प्रतिक्रिया देते हुए घटना पर दुख जताया है. साथ ही घटना के लिए दोषी लोगों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई की मांग की है. वहीं पूर्व सीएम अखिलेश यादव ने आरोप लगाया कि प्रशासन ने मृतकों के परिजनों को लाश देकर भगा दिया गया, मृतक का पोस्टमार्टम तक नहीं हुआ है, साथ ही उनके भर्ती कार्ड भी गायब कर दिया गया है. इस दौरान  अखिलेश ने सरकार को घटना के लिए ज़िम्मेदार ठहराते हुए पीड़ित परिवारों को 20-20 लाख का मुआवज़े की मांग की है.
 
कांग्रेसी नेता बोले- दोषियों को दो कड़ी सजा
गोरखपुर में बच्चों की मौत की घटना की कांग्रेस के उपाध्यक्ष राहुल गांधी ने कड़ी प्रतिक्रिया दी है. राहुल गांधी ने कहा कि इस घटना का उन्हें बहुत दुख है. राहुल ने दोषियों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई की मांग की है. वहीं आज गोरखपर पहुंचे कांग्रेसी नेता गुलाम नबी आजाद ने घटना पर कड़ी प्रतिक्रिया देते हुए घटना के लिए सीधे तौर पर राज्य सरकार की लापरवाही को जिम्मदार ठहराया है. साथ ही सीएम योगी के इस्तीफे की मांग की है.