नई दिल्ली. संसद के मॉनसून सत्र में मोदी सरकार की मुश्किलें लगातार बरकरार है. सत्र की शुरुआत में ललितगेट को लेकर हुए लोकसभा और राज्यसभा में हंगामे के बाद अब गुरुदासपुर आतंकी हमले और याकूब मेमन की फांसी को लेकर शुक्रवार के दिन भी संसद की कार्यवाही बाधित हो सकती है.

शत्रुध्न सिन्हा का मामला भी उठाया जा सकता है. वह याकूब मेमन की दया याचिका पर हस्ताक्षर करने के मामले में अपनी ही पार्टी के विरोधों का सामना कर रहे हैं. गुरुवार के दिन लोकसभा की कार्यवाही दिवंगत राष्ट्रपति ए.पी.जे.अब्दुल कलाम को श्रद्धांजलि अर्पित करने के बाद दिनभर के लिए स्थगित कर दी गई थी. वहीं राज्यसभा में गुरुदासपुर हमले को लेकर गृह मंत्री के बयान के दौरान विपक्षियों ने लगातार सरकार के खिलाफ ‘हाय-हाय’ के नारे लगाए.