नई दिल्ली: कैग की रिपोर्ट के बाद आज राज्यसभा में भी सेना के पास गोले-बारूद को लेकर आरोप-प्रत्यारोप चला. समाजवादी पार्टी के सांसद रामगोपाल यादव ने कैग रिपोर्ट का जिक्र करते हुए कहा कि सरकार की लापरवाही की वजह से सेना के पास गोला बारूद की कमी है. जिसके जवाब में रक्षा मंत्री अरुण जेटली ने बेबुनियाद बताते हुए रामगोपाल यादव के बयान को खारिज कर दिया. जेटली ने कहा कि भारत के पास बड़ी तादाद में गोला बारूद मौजूद है, देश को चिंता नहीं करनी चाहिए. 
 
बता दें कि सेना के गोला बारूद को लेकर तीन दिन पहले ही CAG की रिपोर्ट में इस बात का खुलासा हुआ है कि भारत के पास गोला बारूद की भारी कमी है और अगर जंग हुई तो 10 दिन भी लगातार नहीं लड़ पाएगी भारतीय सेना.
 
 
रिपोर्ट के मुताबिक जंग के लिए पूरी तरह से सक्षम होने में भारत को अभी दो साल का समय और लगेगा. पिछले 10 महीनों में हुए रक्षा सौदों को पूरा होने में दो साल का वक्त है, इसके बाद ही भारत के पास बेहतरीन हथियार और जरूरत के हिसाब से गोला बारूद मौजूद होंगे.
 
सीएजी की रिपोर्ट में यह भी बताया गया है कि मार्च 2013 तक भारत के पास गोला-बारूद के 50% प्रकार ऐसे थे जो 10 दिन के लगातार युद्ध से खत्म हो जाते. वहीं सितंबर 2016 के मुताबिक कुल गोला बारूद में से 40 फीसदी गोला बारूद संकट की स्थिति में हैं.