नई दिल्ली : राष्ट्रपति चुनाव के वोटिंग के बाद अब उप-राष्ट्रपति के चुनाव के लिए प्रक्रिया शुरु हो गई है. आज उपराष्ट्रपति पद के लिए एनडीए के उम्मीदवार वेंकैया नायडू ने पीएम मोदी, बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह और अन्य एनडीए के नेताओं की मौजूदगी में अपना नामांकन दाखिल किया. वहीं वेंकैया नायडू के बाद विपक्षी दलों के उम्मीदवार गोपालकृष्ण गांधी ने भी अपना नामांकन दाखिल कर दिया है.  
 
बता दें कि वेंकैया नायडू बीजेपी के वरिष्ठ नेता और शहरी विकास एवं सूचना प्रसारण मंत्री हैं, वहीं राष्ट्रपिता महात्मा गांधी के पौत्र गोपालकृष्ण गांधी राष्ट्रपिता महात्मा गांधी के पौत्र हैं. बीजेपी संसदीय बोर्ड की बैठक में सोमवार को नायडू के नाम का फैसला किया गया. वहीं विपक्ष के उपराष्ट्रपति उम्मीदवार गोपालकृष्ण गांधी का नाम विपक्ष दो दिन पहले घोषित कर चुकी है.
 
 
वेंकैया नायडू 11 बजे दाखिल करेंगे नामांकन 
वेंकैया नायडू के नामांकन के दौरान प्रधानमंत्री मोदी और बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह भी मौजूद रहेंगे. एक नामांकन पत्र पर पीएम मोदी के नेतृत्व में 35 सांसदों के हस्ताक्षर पहले से ही पार्टी ने करवा लिए हैं, वहीं दूसरे नामांकन पत्र के सेट पर अरुण जेटली के नेतृत्व में पार्टी ने 35 लोगों के हस्ताक्षर करवाए गए हैं.
 
5 अगस्त को उपराष्ट्रपति का चुनाव 
उपराष्ट्रपति का चुनाव 5 अगस्त को होना है. इसके लिए नामांकन पत्र दाखिल करने की अंतिम तिथि 18 जुलाई है. उपराष्ट्रपति और राज्यसभा के सभापति हामिद अंसारी का कार्यकाल 10 अगस्त को समाप्त हो रहा है.
 
 
वेंकैया नायडू और गोपालकृष्ण गांधी के बारे में
कौन हैं वेंकैया नायडू
वेंकैया नायडू चार बार राज्यसभा के सांसद रह चुके हैं. नायडू अभी राजस्थान से राज्यसभा सांसद हैं. उनके पास राज्यसभा का गहन अनुभव है. नायडू मौजूदा सरकार में संसदीय कार्य मंत्री हैं.
 
कौन हैं गोपालकृष्ण गांधी
71 वर्षीय गोपालकृष्ण गांधी रिटायर्ड आईएएस अधिकारी हैं. वे बंगाल के 22 वें गवर्नर भी रह चुके हैं. 2004 से 2009 तक इस पद पर कार्यरत रहे. वह राष्ट्रपिता महात्मा गांधी के पोते हैं.