नई दिल्ली. उपराष्ट्रपति चुनाव में एनडीए के कैंडिडेट बनाए गए केंद्रीय मंत्री और बीजेपी के पूर्व अध्यक्ष वेंकैया नायड़ू मंगलवार को नामांकन दाखिल करेंगे. नामांकन का पर्चा भरने से पहले वो केंद्रीय मंत्रिमंडल से इस्तीफा दे देंगे. उनके पास शहरी विकास मंत्रालय और सूचना प्रसारण मंत्रालय का प्रभार है.
 
अपने चुटीले बातों से विरोधियों को पटखनी देने के लिए मशहूर वेंकैया नायडू से आज से ठीक 49 दिन पहले 30 मई को जब पत्रकारों ने ये कहा था कि उनका नाम राष्ट्रपति या उपराष्ट्रपति पद के लिए चल रहा है तो उन्होंने अपने ही अंदाज में जवाब दिया था. 
 
 
वेंकैया ने पत्रकारों से कहा था, “मैं ना तो राष्ट्रपति बनना चाहता हूं और ना ही उपराष्ट्रपति बनना चाहता हूं. मैं तो उषा-पति ही खुश हूं.” वेंकैया नायडू की पत्नी का नाम उषा है.
 
बीजेपी संसदीय दल की सोमवार शाम बैठक में नायडू के नाम पर मुहर लगा और उसके बाद पार्टी अध्यक्ष अमित शाह ने उनके नाम का ऐलान कर दिया. कहा जा रहा था कि वेंकैया उपराष्ट्रपति प्रत्याशी बनने को राजी नहीं थे लेकिन बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह ने उन्हें इसके लिए मना लिया है.