मुंबई: फिल्म इंदु सरकार की रिलीज से पहले फिल्म की कहानी को लेकर मचे बवाल को देखते हुए महाराष्ट्र सरकार ने फिल्म निर्माता मधुर भंडारकर को Y श्रेणी की सुरक्षा देने का फैसला किया है. दरअसल पिछले दिनों पुणे में फिल्म को लेकर एक प्रेस कॉन्फ्रेंस रखी गई थी जिसमें पहुंचकर कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने जमकर हंगामा किया था. भारी हंगामे की वजह से प्रेस कॉन्फ्रेंस रद्द करनी पड़ी थी. 
 
मामले की गंभीरता को देखते हुए मधुर भंडारकर के स्टाफ ने ही वहां मौजूद मीडिया को प्रेस कॉन्फ्रेंस रद्द होने की सूचना दी. जिस होटल में ये कॉन्फ्रेंस रखी गई थी उस होटल प्रबंधन ने मधुर भंडारकर को होटल से बाहर ना निकलने की सलाह भी दी थी. इस बीच मधुर भंडारकर ने राहुल गांधी को ट्विटर पर टैग करते हुए ट्वीट भी किया था जिसमें उन्होंने लिखा था कि पुणे के बाद आज मुझे नागपुर में प्रेस कॉन्फ्रेंस रद्द करनी पड़ी. क्या आप इन गुंडों को अनुमति देते हैं? क्या मुझे मेरे बोलने का अधिकार मिल सकता है?
 
 
दरअसल शनिवार को पुणे में स्थानीय कांग्रेसनी नेताओं से मिली धमकी के बाद मधुर भंडारकर ने फिल्म प्रमोशन का अपना कार्यक्रम रद्द कर दिया था. 
आपको बता दें कि फिल्म इंदु सरकार आपातकाल की कहानी पर आधारित फिल्म है जिसका कांग्रेस कार्यकर्ता विरोध कर रहे हैं. महाराष्ट्र कांग्रेस के अध्यक्ष संजय निरुपम फिल्म को सर्टिफिकेट देने से पहले उन्हें दिखाने की मांग कर चुके हैं जिसे मधुर भंडारकर ने मानने से मना कर दिया था.