नई दिल्ली. 1993 मुंबई बम धमाकों के दोषी याकूब मेमन की ओर से डेथ वारंट के खिलाफ दायर पिटीशन पर सुप्रीम कोर्ट में आज सुनवाई शुरू हो चुकी है. सुनवाई तीन जजों की बेंच कर रही है. डेथ वारंट को गैर कानूनी बताने वाली इस पिटीशन पर मंगलवार को सुप्रीम कोर्ट के दो जजों के बीच एक राय नहीं बन पाई थी. जिसके बाद चीफ जस्टिस ने पिटीशन को तीन जजों की लार्जर बेंच को भेजा था. अब सुनवाई जस्टिस दीपक मिश्रा, प्रफुल्ल पंत और अमिताभ रॉय की बेंच कर रही है.

कौन-कौन पहुंचा सुनवाई में
सुनवाई में शामिल होने के लिए 1993 मुंबई बम धमाकों के इवेस्टिगेटिंग ऑफिसर और रिटायर्ड डीआईजी सीबीआई ओपी चटवाल भी सुप्रीम कोर्ट पहुंचे हैं. सुनवाई कोर्ट रूम नंबर 4 में हो रही है, जहां अटॉर्नी जनरल मुकुल रोहतगी, एडवोकेट राजू रामचंद्रन और कई एडवोकेट मौजूद हैं.